मायावती की लखनऊ रैली में भगदड़ से दो महिलाओं की मौत, 22 घायल

मायावती की लखनऊ रैली में भगदड़ से दो महिलाओं की मौत, 22 घायल

लखनऊ बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक कांशीराम की दसवीं पुण्य तिथि पर आज लखनऊ में पार्टी की मुखिया मायावती की रैली के दौरान भगदड़ मच गई। भयंकर गर्मी के कारण गेट नंबर एक पर मची भगदड़ से दो महिलाओं की मौत हो गई जबकि 22 लोग घायल हैं। इनको शहर के विभिन्न अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2002 में बसपा रैली के बाद लखनऊ स्टेशन पर मची भगदड़ में 12 लोगों की जानें गईं थी और करीब 22 घायल हो गए थे।

आज इस रैली में आने वालों की तादाद काफी बढ़ गई थी और इससे भीड़ बढ़ गई। लोगों कहना है कि इस विशाल रैली में सुरक्षा के कोई कड़े इंतेजाम नहीं किए गए थे। इस रैली में हिस्सा लेने के लिए प्रदेश भर से लाखों की संख्या में कार्यकर्ता आए हुए थे।

भगदड़ में दो महिलाओं की मौत हो गई जबकि 22 लोगों के घायल होने सूचना है। मृतका का नाम शांति देवी (65 वर्ष) पत्नी पुत्ती विधूना कानपुर है। एक अन्य मृतक महिला की अभी शिनाख्त नहीं हो सकी है। घायलों में तीन पुरुषों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राम अचल राजभर ने कहा कि रैली के बाद भयंकर गर्मी तथा उमस के कारण लोगों की मौत हुई है। आज इस रैली के दौरान या बाद में कोई भगदड़ नहीं हुई थी।

मृतकों को दो-दो लाख का मुआवजा

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बहुजन समाज पार्टी की रैली के दौरान भगदड़ से लोगों की मौत पर दुख जताया है। इसके साथ ही उन्होंने मृतकों को दो-दो लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की है। इसके साथ ही घायलों को मुफ्त में इलाज कराने सुविधा देने का निर्देश दिया है।

मृतक आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपया देगी बसपा

बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने आज रैली के बाद भगदड़ में मृत्यु पर शोक जताया है। पार्टी के महासचिव नसीमुद्दीन ने बताया कि पार्टी की मुखिया के निर्देश पर मृतक आश्रितों को पार्टी की तरफ से पांच-पांच लाख रुपया की मदद दी जाएगी।

Courtesy: jagran.com

Categories: Politics

Related Articles