PAK में इंडियन TV-रेडियो कॉन्टेंट पूरी तरह बैन, लाइसेंस सस्पेंड करने की वॉर्निंग

PAK में इंडियन TV-रेडियो कॉन्टेंट पूरी तरह बैन, लाइसेंस सस्पेंड करने की वॉर्निंग
इस्लामाबाद. पाकिस्तान की इलेक्ट्रॉनिक मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी ने इंडियन टीवी और रेडियो कॉन्टेंट पर पूरी तरह बैन लगाने का फैसला किया है। यह बैन शुक्रवार से लागू होगा। अथॉरिटी ने वॉर्निंग दी है कि जो भी इसका वॉयलेशन करता पाया गया, उसे बिना कोई नोटिस जारी किए ही लाइसेंस तुरंत सस्पेंड कर दिया जाएगा।अथॉरिटी ने और क्या कहा…
– ‘यह बैन 21 अक्टूबर से शाम 3 बजे से लागू हो जाएगा। अगर कोई रेडियो और टेलीविजन स्टेशन बैन का वॉयलेशन करता पाया गया तो उसका लाइसेंस तुरंत सस्पेंड कर दिया जाएगा।’
– मीडिया रेगुलेटरी अथॉरिटी ने यह वॉर्निंग बुधवार को एक स्टेटमेंट जारी कर दिया है। इसमें कहा गया है- ‘पाकिस्तान में केबल और रेडियो पर ऑन एयर सभी इंडियन कॉन्टेंट पर यह बैन लागू होगा।’
भारतीय मीडिया को मिले एकतरफा अधिकार भी कैंसल
– अथॉरिटी ने पाक में इंडियन मीडिया को दिए गए एकतरफा अधिकारों को भी कैंसल करने का फैसला किया है।
– इंडियन मीडिया को ये अधिकार 2006 में परवेज मुशर्रफ की सरकार ने दिए थे।
– PEMRA को ऐसी शिकायतें मिली थीं कि ज्यादातर लोकल चैनल 5 फीसदी से ज्यादा फॉरेन कॉन्टेंट दिखा रहे हैं।
पहले क्या कहा था PEMRA ने?
– इससे पहले 21 अगस्त को पाकिस्तानी अथॉरिटी ने ऐलान किया था कि जो भी केबल ऑपरेटर दायरे से बाहर जाकर फॉरेन चैनल्स को ब्रॉडकास्ट करेगा या फिर डीटीएच सेट बेचेगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस फैसले पर 16 अक्टूबर से अमल शुरू कर दिया गया है।
– PEMRA ने अपने चेयरमैन अबसार आलम को यह अधिकार दिया है कि वह उन कंपनियों का लाइसेंस सस्पेंड कर दें जो गैरकानूनी तरीके से इंडियन कॉन्टेंट इस्तेमाल कर रहे हैं।
पाक ने क्यों उठाया यह कदम?
– जम्मू-कश्मीर के उड़ी में 18 सितंबर को इंडियन आर्मी के बेस पर हुए आतंकी हमले में 18 जवान शहीद हो गए थे। इसी के बाद से रिश्ते काफी बिगड़ गए।
– इंडियन आर्मी ने 28 और 29 सितंबर की दरमियानी रात को पीओके में सर्जिकल स्ट्राइक की। इसमें 40 आतंकी मारे गए। उनके 7 लॉन्चिंग पैड तबाह कर दिए गए।
– भारत में पाकिस्तान के आर्टिस्ट्स का जबर्दस्त विरोध हो रहा है। सीमा पार से जारी आतंकवाद खत्म होने तक इन पर पूरी तरह से बैन लगाने की मांग की जा रही है।
Courtesy: Bhaskar