सेलिब्रिटी को ब्रैंड ऐंबैसडर से हटा रहीं कंपनियां, ये हैं वजह

सेलिब्रिटी को ब्रैंड ऐंबैसडर से हटा रहीं कंपनियां, ये हैं वजह

नई दिल्ली
थम्स-अप के ब्रैंड ऐंबैसडर के लिए सलमान खान का कॉन्ट्रैक्ट रिन्यू नहीं होने की खबर आने के तुरंत बाद सोशल मीडिया पर कॉमेंट्स की बौछार होने लगी। हालांकि, सोशल मीडिया पर अनाप-शनाप कॉमेंट्स करने वालों को शायद यह पता नहीं है कि यह सोची-समझी बिजनस रणनीति का हिस्सा है और कई कंपनियां ऐसे फैसले ले रही हैं। दरअसल, कंपनियों को लग रहा है कि सेलिब्रिटीज और ब्रैंड ऐंबैसडर्स पर जितना पैसा खर्च किया जा रहा है, वे अब उसके लायक नहीं रहे।

पेप्सी ने इसी साल भारतीय वनडे क्रिकेट टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ 11 साल पुराना ब्रैंड का रिश्ता खत्म किया है। स्नैपडील ने भी फरवरी में बॉलीवुड ऐक्टर आमिर खान के साथ अपना कॉन्ट्रैक्ट खत्म किया। भारत में ऐड पर खर्च करने वाली तीन बड़ी इकाइयों में ऐमजॉन, फ्लिपकार्ट और स्नैपडील शामिल हैं। तीनों के पास कोई भी सेलिब्रिटी ब्रैंड ऐंबैसडर नहीं है। ब्रैंड एक्सपर्ट्स और इंडस्ट्री से जुड़े लोग इसे एक पैटर्न बता रहे हैं। उनके मुताबिक, इसकी दो वजहें हैं। पहली यह कि सेलिब्रिटी सोशल मीडिया पर सक्रिय हैं, इसलिए वे अब पहले की तरह एक्सक्लूसिव नहीं रहे। अगर सेलिब्रिटी ट्विटर, फेसबुक और अन्य प्लैटफॉर्म पर ज्यादा सक्रिय हैं, तो लोगों को उन तक पहुंच आसान लगती है।

पेप्सिको इंडिया के चेयरमैन डी शिवकुमार कहते हैं, ‘स्टार्स सोशल मीडिया से जुड़े हैं। लोग हमेशा उन्हें फॉलो करते हैं। लिहाजा, उनके करीब होने, उनके बारे में जानने का जोश कम हो गया है।’ दूसरी बात यह कि सोशल मीडिया का जो मिजाज है, उसमें किसी भी ब्रैंड के लिए सेलिब्रिटी से जुड़े विवाद को पचा पाना बेहद मुश्किल है। ग्रुपएम के सीईओ (साउथ एशिया) सी वी एल श्रीनिवास कहते हैं, ‘इस दौर में कौन क्या कह रहा है, इस बात की 24×7 पड़ताल हो रही है। ऐसे में ब्रैंड्स को सेलिब्रिटी एंडॉर्समेंट को लेकर सावधान रहने की जरूरत है। सेलिब्रिटी के बयान और काम से जुड़ा नेगेटिव सेंटिमेंट ब्रैंड को प्रभावित करता है।’

प्रफेशनल्स भी इससे सहमत हैं। टैलंट मैनेजमेंट फर्म क्वान के फाउंडर और रणबीर कपूर और दीपिका पादुकोण के साथ काम करने वाले अनिर्बान ब्ला कहते हैं, ‘स्मार्टफोन और सोशल मीडिया के कारण सेलिब्रिटीज की पहुंच का दायरा काफी बढ़ गया है। ऐसे में उन्हें इस बात को लेकर काफी सावधानी बरतने की जरूरत है कि वे क्या बोल रहे हैं या क्या कर रहे हैं।’

ऐड और पब्लिक रिलेशंस कंपनी परसेप्ट के जॉइंट मैनेजिंग डायरेक्टर शैलेंद्र सिंह का कहना है कि जैसे ही कोई सेलिब्रिटी रिटर्न ऑन इन्वेस्टमेंट के मानक पर खरा नहीं उतरेगा, ब्रैंड्स उसे तुरंत चलता कर देंगे। इंडस्ट्री के जानकारों के मुताबिक, हाल के अनुभवों से पता चला है कि सेलिब्रिटीज का हायर करना फायदे का सौदा नहीं है।

Courtesy: NBT

 

Categories: Entertainment

Related Articles