बिहार : महिला जेई को कुर्सी में बांधकर जिंदा जलाया, पुलिस की जांच शुरू

बिहार : महिला जेई को कुर्सी में बांधकर जिंदा जलाया, पुलिस की जांच शुरू

मुजफ्फरपुर  महिला इंजीनियर सरिता देवी को कुर्सी में बांधकर जिंदा जला दिया गया। उसकी एेसी दर्दनाक मौत को देखकर लोगों की आंखों में आंसूू आ गए। मिली जानकारी के मुताबिक सरिता मनरेगा में जेई के पद पर तैनात थी। वह पति से अलग किराए के घर में रहती थी। पुलिस ने मौके से एक जोड़ी चप्पल बरामद की है, जिससे उसकी पहचान की गई।

महिला जेई को जलाकर मारने के मामले में एसएसपी के निर्देश पर जांच टीम का गठन किया गया है। प्रशासन ने इसका जिम्मा नगर डीएसपी को सौंपा है।

जले लाश के मिले अवशेष, पुलिस की जांच शुरू

घटना अहियापुर थाना क्षेत्र के कोल्हुआ बजरंग विहार कॉलोनी के एक निर्माणाधीन मकान की है। मुरौल मे नियुक्त सरिता कुमारी की लाश का अवशेष सोमवार सुबह मिलने से इलाके मे सनसनी फैल गई। पुलिस सूचना देने वाले विजय गुप्ता को हिरासत मे लेकर पूछताछ कर रही है। सरिता उसके मकान मे कमरा लेकर कार्यालय का कार्य करती थी।

जबकि पास मे ही उसका तीन तल्ला मकान है। इसमे वह छोटे बेटे के साथ रहती थी। इस मकान मे ताला लगा मिला। प्रारंभिक जांच मे जला अवशेष सरिता के ही होने की बात कही जा रही है। एसएसपी विवेक कुमार ने भी यहां का जायजा लिया।

जलाने के लिए केरोसिन का किया गया इस्तेमाल

घटनास्थल को देखने से पता चलता है कि जेई को जलाने के लिए केरोसिन का इस्तेमाल किया गया। लाश पूरी तरह जल जाए इसके लिए प्लास्टिक की कुर्सियां व अन्य ज्वलनशील सामग्री भी डाली गई। पति के बयान पर प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। जिसमे विजय कुमार गुप्ता पर संदेह जताया गया है।

पति से नहीं थे अच्छे संबंध

सीतामढ़ी कन्हौली थाना के फुलकाहां की उक्त जेई का पति विजय कुमार नायक से बेहतर संबंध नही था। जबकि विजय गुप्ता उसके साथ साए की तरह रहता था। दोनो के बीच चार-पांच वर्षो से मधुर संबंध होने की यहां चर्चा है। विभाग के भी लोग इस ओर इशारा कर रहे।

मामा के यहां गया था बेटा

दो लड़के की मां सरिता छोटे बेटे आर्या के साथ यहां रहती थी। बेटे के बारे मे कहा जा रहा कि वह रविवार को मामा के यहां बेगूसराय गया था। रविवार रात आठ बजे तक उसकी मां से बात हुई थी। घटना की जानकारी मिलने के बाद पति व बड़ा बेटा घु्रव समेत घरवाले पहुंच गए। पुलिस उनसे जानकारी इकट्ठा कर रही है। घु्रव दरभंगा मे पॉलीटेक्निक की पढ़ाई कर रहा है।

इससे पहले विजय गुप्ता ने ही पुलिस को घटना की सूचना दी। उसने बताया कि सुबह यहां दरवाजा खोला तो देखा कि वहां पर केरोसिन तेल बहा हुआ है। पास मे ही जला हुआ अवशेष देखा। इसके बाद आसपास के लोगो व पुलिस को इसकी जानकारी दी। घटना की सूचना मिलने के बाद नगर डीएसपी आशीष आनंद, अहियापुर थाने की पुलिस व एफएसएल (फोरेसिक साइंस लेबोरेटरी) की टीम ने बारीकी से इसकी जांच की। जले हुए अवशेष को एसकेएमसीएच भेज दिया गया।

खंगाले जा रहे कॉल डिटेल्स

विजय गुप्ता को पुलिस ने पूछताछ के लिए हिरासत मे लिया है। उसका मोबाइल जब्त कर कॉल डिटेल्स निकाला जा रहा। उसके मकान मे ही एक कमरे मे सरिता कार्यालय चलाती थी। उसका यहां प्रतिदिन आना-जाना था। पूछताछ मे पता चला कि विजय गुप्ता मूल रूप से मोतिहारी के चिरैया का रहने वाला है।

वर्तमान मे कांटी दामोदरपुर के शांति विहार कॉलोनी स्थित गरम चौक पर किराए के मकान मे रहता है। जेई का कागजी काम विजय ही देखता था। प्रतिदिन यहां मनरेगा व अन्य विभागों के पदाधिकारी भी आते थे। रविवार को भी शाम छह बजे तक कई लोगो के साथ सरिता व विजय ने वहां पर काम किया।

मौके से मिले हैं मृतका के अवशेष

पुलिस ने मौके से एक जोड़ी चप्पल, हड्डी के अवशेष के अलावा सुसाइड नोट सहित अन्य सामान बरामद किया है। पुलिस मकान मालिक विजय गुप्ता से पूछताछ कर रही है। देर रात तक नगर डीएसपी आशीष आनंद के नेतृत्व में विशेष टीम पूरे मामले को सुलझाने में जुटी थी।

जिसके मकान में जली वह मनरेगा की योजनाओं का बनाता था इस्टीमेट

पूर्वी चंपारण के चिरैया निवासी विजय मनरेगा की अलग-अलग योजनाओं का इस्टीमेट बनाता था। बजरंग विहार कॉलोनी में उसका एक निर्माणाधीन मकान भी है, जहां पर सरिता अक्सर कार्यालय से जुड़े निजी काम करती थी। सोमवार की सुबह शॉर्ट सर्किट से आग लगने की सूचना पर आसपास के लोग जमा हो गए। इसी बीच मोहल्ले के कुछ लोग जबरन अंदर चले गए।

वहां देखा कि एक कुर्सी जली हुई है। पास ही चप्पल रखी है। पैर की जली हड्डी व अवशेष पड़ी है। सूचना मिलते ही अहियापुर पुलिस मौके पर पहुंची। उस पर केमिकल भी छिड़का गया, ताकि अवशेष नहीं बचे। लोगों ने बताया कि मृतका रविवार शाम को देखी गई थी। उसने आसमानी कलर की समीज व क्रीम रंग का सलवार पहन रखा था। परिजनों से देर रात तक पूछताछ की जा रही थी।

सुसाइड नोट ने उलझाई गुत्थी

पुलिस ने मौके से एक सुसाइड नोट बरामद किया है। इसमें सरिता ने अपनी मां से बच्चों की देखभाल को कहा है। नोट मिलने से सुसाइड का एंगल भी सामने आ रहा है हालांकि पुलिस इसमें हत्या के एंगल से शुरुआती जांच कर रही है।मौके का मुआयना करने के बाद पुलिस ने कहा है कि सरिता को जलाने से पहले संभव है कि उसके शरीर पर केमिकल भी छिड़का गया हो।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Crime