BSF ने कहा- हम PAK के सिविलियन एरिया पर फायरिंग नहीं करेंगे, लेकिन हमारे रिहाइशी इलाकों में गोली आई तो मुंहतोड़ जवाब देंगे

BSF ने कहा- हम PAK के सिविलियन एरिया पर फायरिंग नहीं करेंगे, लेकिन हमारे रिहाइशी इलाकों में गोली आई तो मुंहतोड़ जवाब देंगे

जम्मू. पाकिस्तान की तरफ से LoC और इंटरनेशनल बॉर्डर पर रुक-रुक कर फायरिंग हो रही है। पाकिस्तान की सेना ने रातभर भारत की 24 चौकियों पर लगातार फायरिंग की। यह सुबह 5 बजे थमी। सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाक 57 बार सीजफायर तोड़ चुका है। ये भी खबरें आई थीं कि भारत की जवाबी कार्रवाई में पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के कई गांवों में आग लग गई। हालांकि, बीएसएफ ने कहा है कि पड़ोसी देश के सिविलियन एरिया को हम निशाना नहीं बनाएंगे। लेकिन पाकिस्तान ने गोलियां बरसाईं तो पुरजोर जवाब देंगे। इस बीच, बारामूला में हथियार और गोला-बारूद के साथ एक जैश-ए-मोहम्मद का एक आतंकी अरेस्ट हुआ है। शुक्रवार को पाक ने फिर तोड़ा सीजफायर…

– पाकिस्तान की ओर से शुक्रवार सुबह एलओसी से सटे सुंदरबानी और पल्लनवाला सेक्टर में शुक्रवार सुबह सीजफायर वॉयलेशन हुआ। वहीं, कठुआ के हीरानगर सेक्टर में भी पाक ने सीजफायर तोड़ा।

– वहीं, गुरुवार शाम से ही एलओसी पर रातभर भारी गोलीबारी हुई। पाक रेंजर्स ने आर्मी की चौकियों को निशाना बनाया।

– पूरे हालात पर राजनाथ सिंह ने बीएसएफ के डीजी से बात की और करारा जवाब देने को कहा था। NSA अजीत डोभाल को हमले की जानकारी दी गई।

– बीएसएफ के एडीजी अरुण कुमार ने शुक्रवार को कहा कि हम कभी भी ऐसे इलाकों पर फायरिंग नहीं करेंगे जहां सिविलियन आबादी हो। लेकिन अगर पाकिस्तान ने हमारे रिहाइशी इलाकों पर पहले फायरिंग की तो ये बात तय है कि हम करारा जवाब देंगे।

– पाक के कब्जे वाले कश्मीर में कई गांवों में आग लगने की भी खबर आई थी क्योंकि जबकि एम्बुलेंसें भी देखी गई थीं।

5 जवान जख्मी

– अखनूर की केरी में 5 जवान जख्मी हुए। जवानों को एयरलिफ्ट कर हॉस्पिटल ले जाया गया।

– पाकिस्तान में 2 के मारे जाने और 11 के जख्मी होने की बात कन्फर्म हुई है।

– कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, भारतीय चौकियों पर हमले के पीछे आतंकी भी हैं। चौकियों पर मोर्टार से हमला किया जा रहा है। एलओसी के बहुत नजदीक पाकिस्तानी आर्मी का जमावड़ा है।

– आज आर्मी चीफ दलबीर सिंह सुहाग हिमाचल प्रदेश में बॉर्डर पर तैयारियों का जायजा लेने जाएंगे।

क्या है इस हमले की वजह?
– पाक आर्मी के कमांडो एलओसी पर लगी बाड़ तक पहुंच गए थे।
– 29 नवंबर को रिटायर होने से पहले पाक आर्मी चीफ कोई बड़ी कार्रवाई करना चाहते हैं।
– सर्जिकल स्ट्राइक का बदला लेना चाहता है पाकिस्तान। वैसे दीपावली पर वह हमेशा ऐसी हरकत करता आया है।

किन चौकियों को बनाया निशाना

– LoC की तंगधार, मेंढर, आरएस पुरा, अरनिया, अखनूर और सांबा में भारतीय चौकियों को बनाया निशाना बनाकर गोलीबारी की।

BSF को ऑर्डर, एक मोर्टार के बदले दागे 10 मोर्टार

– मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बीएसएफ से कहा गया है कि पाकिस्तान से हो रही फायरिंग का 10 गुना ताकत से जवाब दिया जाए। पाक की तरफ से एक मोर्टार आने पर बदले में 10 मोर्टार दागे जाएं।
– एलओसी पार पाकिस्तान के कब्जे वाले गांवों में कई एम्बुलेंस देखी गई। बीएसएफ की जवाबी कार्रवाई में कई मकानों में आग लगने की खबर।

घुसपैठ रोकने में दो जवान शहीद

– इससे पहले जम्मू-कश्मीर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर वॉयलेशन और घुसपैठ रोकने के दौरान पिछले 24 घंटे में दो भारतीय जवान शहीद हो गए।

– इनमें एक बीएसएफ और दूसरा गढ़वाल राइफल्स का जवान शामिल है। गुरुवार को पाकिस्तान ने एलओसी से सटे कई इलाकों में फायरिंग की।
– अब्दुलियां में जख्मी जवान को जान गंवानी पड़ी। इसके बाद शाम को कुपवाड़ा के तंगधार में घुसपैठ रोकने में 4-5 आतंकियों के साथ एनकाउंटर में आर्मी का एक जवान शहीद हो गया।
– बीएसएफ ने भी एक पाक रेंजर मार गिराया है।

सर्जिकल स्ट्राइक के बाद 56 बार सीजफायर वॉयलेशन कर चुका है पाक
– पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) में भारत की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अब तक 56 बार सीजफायर वॉयलेशन किया है।
– पाक रेंजर्स ने आरएस पुरा, अरनिया, अब्दुलियां, नौशेरा और पुंछ में सीजफायर तोड़कर हेवी फायरिंग की। तीन दिन से रुक-रुक कर फायरिंग हो रही है।
– इसी हफ्ते सोमवार को सीमापार से फायरिंग में एक जवान शहीद हो गया था। एक बच्चे की भी मौत हो गई थी।

आम नागरिक बन रहे हैं निशाना
– पिछले पांच दिनों में पाकिस्तान की ओर से फायरिंग में सबसे ज्यादा आम नागरिक निशाना बन रहे हैं।
– पांच दिनों में 30 से ज्यादा आम लोग घायल हो चुके हैं। गुरुवार को इन सेक्टर्स में घायल हुए लोगों का यहां के सरकारी हॉस्पिटल में इलाज चल रहा है।
– इन सेक्टर्स के कई गांवों के लोग अपना घर छोड़कर जा चुके हैं।

Courtesy: Bhaskar

 

Categories: India

Related Articles