कश्मीर में फिर स्कूल जलाया गया; उमर अब्दुल्ला बोले- ये बच्चों के सपनों पर हमला

कश्मीर में फिर स्कूल जलाया गया; उमर अब्दुल्ला बोले- ये बच्चों के सपनों पर हमला

श्रीनगर .जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग जिले में रविवार को फिर एक स्कूल आग के हवाले कर दिया गया। स्कूलों में आग लगाए जाने की घटनाओं से नाराज राज्य के पूर्व सीएम उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि कुछ लोग घाटी के बच्चों के फ्यूचर के खिलाफ साजिश रच रहे हैं। ये बच्चों के सपनों पर हमला है। उमर ने राज्य सरकार के साथ ही अलगाववादियों को इन घटनाओं के लिए जिम्मेदार ठहराया। सख्त एक्शन ले सरकार…

साउथ कश्मीर के एक गांव में कुछ लोगों ने रविवार को एक स्कूल को आग के हवाले कर दिया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कश्मीर में जारी हिंसा के बीच यह 25वां स्कूल है, जिसमें आग लगाई गई है। खास बात ये है कि जिन स्कूलों में आग लगाई गई उनमें से ज्यादातर सरकारी और दक्षिण कश्मीर में हैं।
पुलिस के मुताबिक, अनंतनाग जिले के एशमुकाम गांव में जवाहर नवोदय विद्यालय को आग लगाई गई। अफसरों के मुताबिक, आग लगाने वालों की पहचान कर ली गई है। उनके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।
दूसरी ओर, उमर अब्दुल्ला ने कहा- कौन हैं ये लोग जो स्कूलों में आग लगाकर बच्चों की फ्यूचर के साथ घिनौनी साजिश रच रहे हैं। इसे तबाह कर रहे हैं। ये तो बच्चों के सपनों को तबाह करना है।
उमर ने कहा- इन घटनाओं के पीछे चाहे जो भी लोग हों, उन सभी के खिलाफ बेहद सख्त कार्रवाई होनी चाहिए। उमर ने ये भी कहा कि राज्य सरकार इस तरह की घटनाओं को रोकने में नाकामयाब साबित हुई है।
राज्य के पूर्व सीएम ने हुर्रियत नेताओं की आलोचना करते हुए कहा कि वो इन घटनाओं को रोकने के लिए क्यों कुछ नहीं बोलते। उन्हें एक्शन में आना होगा।

हुर्रियत ने भी की निंदा
हुर्रियत कान्फ्रेंस के नरमपंथी धड़े के अध्यक्ष मीरवाइज मौलवी उमर फारुक ने आग लगाए जाने की घटना पर चिंता जताते हुए उन लोगोें से सावधान रहने की अपील की जो आजादी आंदोलन को बदनाम करने में लगे हैं।
केईए के अध्यक्ष हाजी मोहम्मद यासिन खान ने भी घाटी में जारी स्कूल जलाए जाने की घटनाओं पर चिंता जाहिर करते हुए दरगाह, मस्जिद और बाजारों में हो रही आग लगने की घटनाओं को किसी गहरी साजिश का हिस्सा करार दिया। उन्होंने कहा कि ऐसी घटनाएं कश्मीर को एजुकेशनल और फाईनेंशियल लेवल पर तोड़ देंगी।
हुर्रियत के कट्टरपंथी धड़े के अध्यक्ष सैयद अली शाह गिलानी ने कहा कि कश्मीर मुद्दे पर समस्या की जड़ को खोजना और उसके हल के लिए निर्णायक कदम उठाने की जरुरत है। उन्हाेंने कहा,””हमने यह बार-बार कहा है कि कोई भी आदमी एजुकेशन की अहमियत को नकार नहीं सकता।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: India

Related Articles