दि‍वाली मनाने में जुटे थे लोग और…कूड़े की ढेर में सि‍सक रही थी ‘लक्ष्‍मी’

दि‍वाली मनाने में जुटे थे लोग और…कूड़े की ढेर में सि‍सक रही थी ‘लक्ष्‍मी’

लखनऊ. शहर में दि‍वाली की तैयारि‍यों में रवि‍वार को जब लोग जुटे थे, वहीं यहां अलग-अलग जगह दो नवजात बच्‍ची कूड़े की ढेर में सि‍सकती रही। इसमें से एक की मौत हो गई जबकि दूसरी का इलाज चल रहा है। उसके पालन-पोषण की जिम्‍मेदारी लेने के लि‍ए चाइल्ड लाइन तैयार हो गया है। बता दें कि‍ नवजात बच्‍चि‍यों को देवी और लक्ष्‍मी का रूप माना जाता है। क्‍या है पूरी घटना…

लखनऊ के मड़ि‍यांव इलाके में रेलवे स्टेशन के करीब कूड़े की ढेर से रवि‍वार सुबह एक बच्चे के रोने की आवाज सुनकर लोग चौंक उठे।
लोग भागकर कूड़े की ढेर के पास पहुंचे तो देखा कि अखबार में लि‍पटी बच्ची पड़ी थी।
ठंड की वजह से उसका शरीर नीला पड़ चुका था।
लोगों की सूचना पर पुलि‍स पहुंची और बच्‍ची को इलाज के लिए लखनऊ के झलकारी बाई हॉस्पिटल भेजा।
कूड़े के ढेर में बच्ची मिलने की जानकारी मिलने पर चाइल्ड लाइन के कोऑर्डिनेटर अमरेंद्र यादव मड़ि‍यांव थाने पहुंचे।
उन्होंने बच्ची को अपने संरक्षण में लेने के लिये कागजी कार्रवाई पूरी कर दी।
स्‍थानीय पुलि‍स इंस्पेक्टर नागेश मिश्र ने बताया कि बच्ची के पूर्ण रूप से स्वस्थ होने के बाद उसे चाइल्ड लाइन को सौंप दिया जाएगा।

कपड़े में लपेट कर फेंका
दूसरा मामला लखनऊ के गुडंबा इलाके का है। रवि‍वार सुबह जब घरों से लोग बाहर निकले तो कूड़े की ढेर में कपड़े में लिपटी कोई चीज दि‍खी। अचानक किसी बच्चे का हाथ दि‍खा।
लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी। पुलि‍स ने सर्च कि‍या तो पता चला कि वह डेड पड़ी बच्ची थी।
पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: Regional