लोढ़ा कमेटी की सिफारिशें न मानने से भारत-इंग्लैंड सीरीज पर खतरा, BCCI ने ECB से कहा- फिलहाल अपनी जेब से खर्च करें

लोढ़ा कमेटी की सिफारिशें न मानने से भारत-इंग्लैंड सीरीज पर खतरा, BCCI ने ECB से कहा- फिलहाल अपनी जेब से खर्च करें

नई दिल्ली. लोढ़ा कमेटी की सिफारिशें लागू नहीं होने से भारत-इंग्लैंड के बीच होने वाली 5 टेस्ट मैच की सीरीज खतरे में पड़ गई है। सिफारिशें लागू किए बगैर बीसीसीआई फंड रिलीज नहीं कर सकती। लोढ़ा कमेटी ने भी गुरुवार को इससे किनारा कर लिया। इसके बाद बीसीसीआई ने देर शाम इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) को लेटर लिखकर साफ कर दिया कि दौरे के लिए उनके साथ समझौते पर दस्तखत होना मुश्किल हो गया है। ऐसे में भारत पहुंच चुकी इंग्लैंड की टीम को यहां रहने-ठहरने का खर्च अपनी जेब से देना होगा। बता दें कि भारत-इंग्लैंड के बीच 9 नवंबर को पहला टेस्ट मैच होना है। ईसीबी को बताई सारी हकीकत…

– भारत-इंग्लैंड टेस्ट सीरीज पर लोढ़ा कमेटी की ओर से गुरुवार शाम को जवाब मिला। इसके बाद बीसीसीआई सेक्रेटरी अजय शिर्के ने ईसीबी को लेटर लिखा।
– लेटर में कहा है कि एमओयू पर दस्तखत नहीं होने से भारत आए इंग्लैंड के खिलाड़ियों को भुगतान करने में दिक्कत हो रही है।
– पत्र में यह भी कहा गया है कि एमओयू पर उन्हें हकीकत से वाकिफ कराया जा रहा है। लिहाजा, दौरे को लेकर आखिरी फैसला उन्हें लेना है।

बीसीसीआई ने लोढ़ा कमेटी से मांगी थी इजाजत
– बीसीसीआई ने लोढ़ा कमेटी को बताया था कि इंग्लैंड दौरे के लिए ईसीबी के साथ एमओयू पर दस्तखत नहीं हुए हैं। कमेटी अगर इजाजत दे तो इस दौरे के लिए पैसा रिलीज किया जाए।
– इस पर लोढ़ा कमेटी के सेक्रेटरी गोपाल शंकर नारायण ने जवाब दिया कि कमेटी का इंग्लैंड दौरे से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने यह भी कहा कि सुप्रीम कोर्ट के ऑर्डर के मुताबिक यह मामला उनके अंडर में नहीं है।

पहली बार हुआ ऐसा
– सीरीज होस्ट करने वाला देश दौरा करने वाले टीम के खिलाड़ियों का पेमेंट और रहने-खाने का खर्च का भुगतान संबधित देश के बोर्ड को करता है।
– इसके लिए सीरीज से पहले दोनों देशों के बोर्डों के बीच एमओयू पर दस्तखत किए जाते हैं।
– यह पहला मामला है जब इंग्लैंड टीम भारत आ चुकी है और दोनों बोर्डों ने अब तक एमओयू पर दस्तखत नहीं किए हैं।

सुप्रीम कोर्ट का ऑर्डर है कि पहले सिफारिशें मानो
– बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 21 अक्टूबर को अपने ऑर्डर में कहा था कि बीसीसीआई लोढ़ा कमेटी की सिफारिशें लागू करने के संबंध में हलफनामा दे। इसके बाद ही वह कोई फंड रिलीज कर सकती है।
– बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक हलफनामा 5 नवंबर तक दाखिल करना है। 5 दिसंबर को अगली सुनवाई होगी।

Courtesy: Bhaskar

Categories: Sports

Related Articles