दिल्ली में लगातार तीसरे दिन धुंध: बन रहे लंदन ग्रेट स्मॉग जैसे हालात, 64 साल पहले जहरीली हवा से मारे गए थे 4000 से ज्यादा लोग

दिल्ली में लगातार तीसरे दिन धुंध: बन रहे लंदन ग्रेट स्मॉग जैसे हालात, 64 साल पहले जहरीली हवा से मारे गए थे 4000 से ज्यादा लोग

नई दिल्ली.दिल्ली और एनसीआर में लगातार तीसरे दिन छाई धुंध और एयर पॉल्यूशन ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। हवा इतनी जहरीली हो चुकी है कि एक्सपर्ट्स ने चेतावनी दी है कि अगर हालात जल्द न सुधरे तो लंदन में 1952 में हुई हजारों मौतों जैसी स्थिति बन सकती है। शहर की हवा की क्वालिटी निचले स्तर पर पहुंच गई। हवा में मौजूद कई किस्म के जहरीले कण उसी तरह के हैं, जैसे 1952 में लंदन में पाए गाए थे। हालांकि, शहर की हवा में सल्फर डाई ऑक्साइड (एसओटू) की मात्रा फिलहाल कंट्रोल में है। लंदन में 4 हजार मौतेंं हुई थीं…

सेंटर फॉर साइंस एंड एन्वायरन्मेंट की अनुमित्रा रॉय चौधरी ने कहा- “लंदन में 1952 में स्मॉग की वजह से 4 हजार लोगों की मौत हो गई थी। तब एसओटू हाई लेवल पर था और पीएम लेवल 500 माइक्रोग्राम/क्यूबिक मीटर था। यहां एसओटू भले ही उतना ज्यादा न हो, लेकिन दिवाली पर हवा में कई तरह की जहरीली गैसों का स्तर बढ़ा है।”

“कुल मिलाकर अगर पॉल्यूशन का यह स्तर बरकरार रहा तो दिल्ली में भी सांस से रिलेडेट बीमारियों के कारण लोगों की मौत हो सकती है।”

पॉल्यूशन बढ़ने की वजह

 1 पटाखे से 464 सिगरेट बराबर धुआं

चेस्ट रिसर्च फाउंडेशन के मुताबिक, पटाखों से सबसे ज्यादा प्रदूषण होता है। सांप गोली, पटाखों की लड़ी, अनार और चकरी जैसे पटाखे से 2000 गुना ज्यादा पार्टिकुलेट मैटर छोड़ते हैं। एक पटाखे से 464 सिगरेट के जितना धुआं निकलता है।

 धुंध ने रोका पटाखों का धुआं
– सीएसआई साइंटिस्ट विवेक चट्टोपाध्याय ने कहा कि पटाखों का धुआं धुंध के कारण हट नहीं पाया। हवा के ऊपर जाने की गति कम है हवा अभी फैल नहीं रही है।

 हवा का प्रवाह जिम्मेदार
– दिवाली के दिन हवा की एवरेज स्पीड 1.3 मीटर/ सेकंड थी, पिछले साल यह 3.4 मीटर/ सेकंड थी। हवा की गति धीमी है, कुछ दिन ऐसा ही रहेगा।
– पंजाब में 320 लाख टन फसल का कचरा और भलस्वा डंपिंग ग्राउंड में आग से धुंध बढ़ी।

बाजारों में कम पड़ा मास्क का स्टॉक
10 गुना बढ़ी मास्क बिक्री, कीमत 2200 रु. तक

दिल्ली में एक हफ्ते में मास्क की बिक्री 10 गुना बढ़ गई है। इससे स्टॉक कम पड़ गया है।

बाजार में 90 से 2200 रुपए तक के मास्क उपलब्ध हैं। अमेजन पर मास्क की डिमांड 13 गुना बढ़ गई है और सेल भी छह गुना बढ़ी है।

दिल्ली में ऐसौचेम के अनुसार, एनसीआर में पिछले चार दिनों में एयर फ्यूरिफायर की मांग में 50% की वृद्धि हुई है। एयर प्यूरिफायर की डिमांड अक्टूबर में सितंबर से तीन गुना बढ़ गई।

चीन से ले सकते हैं सबक-कार्बन उत्सर्जन कम करना होगा

चीन में कार्बन उत्सर्जन का मुख्य कारक कोयला है।

चीन ने 2017 तक कोयले के इस्तेमाल में 70% कटौती और 2020 तक कोयला फ्री होने का टारगेट बनाया है।

नासा ने कहा- स्मॉग के चलते दिल्ली की फिजा हुई खराब
नासा ने नॉर्थ इंडिया की तस्वीर जारी कर कहा कि पंजाब में फसल जलने से निकला धुआं दिल्ली तक पहुंचा। सैटेलाइट से दिल्ली की साफ तस्वीर लेने में भी मुश्किल हुई।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: India

Related Articles