यूपी में बनी सरकार तो देखेंगे कि गुंडों ने मां का कितना दूध पिया है: राजनाथ सिं‍ह

यूपी में बनी सरकार तो देखेंगे कि गुंडों ने मां का कितना दूध पिया है: राजनाथ सिं‍ह

शामली (यूपी). राजनाथ सिंह ने यहां बीजेपी की परिवर्तन रैली की शुरुआत की। इस दौरान उन्होंने कहा, ”जो भी गुंडागर्दी के आधार पर लोगों के दिलों में दहशत पैदा करने का काम करता है, बीजेपी की सरकार आने के बाद हम देखेंगे कि यहां गुंडों ने मां का कितना दूध पिया है। बीजेपी ऐसे लोगों को सबक सिखाएगी।” राजनाथ ने कहा- 10 साल में यूपी को बनाएंगे नंबर 1…

होम मिनिस्टर ने आगे कहा, “बीजेपी सत्ता में आई तो गुंडागर्दी करने वालों को सबक सिखाएगी। बहू-बेटियों पर होने वाले अपराधों पर लगाम कसी जाएगी।”
“पुलिस भर्ती में इंटरव्यू का प्रॉसेस खत्म होगा। हमारी सरकार में युवाओं को इम्‍प्‍लॉइमेंट मिलेगा। युवाओं पर दर्ज फर्जी केस खत्म किए जाएंगे।”
“गन्ने का पेमेंट सपा और बसपा सरकार में नहीं होता है। बीजेपी सरकार आने पर 6 महीने में किसानों को पूरा पेमेंट किया जाएगा।”
“केंद्र में आप लोगों ने हमारी सरकार बनवाई है, अब यूपी में भी आप लोग हमारी सरकार बनवाएं।”
“यूपी को 5 साल में विकसित प्रदेश बनाकर दिखाएंगे। 10 साल में यूपी को देश का नंबर वन प्रदेश बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।”

सपा में रोजाना चल रहे हैं लाठी-डंडे
राजनाथ ने कहा- “प्रदेश के हालात बद से बदतर हो रहे हैं। सपा सरकार में रोजाना आपस में ही लाठी-डंडे चल रहे हैं।”
“सपा में महाभारत मचा है। हम किसी परिवार के झगड़े में नहीं झांकना चाहते हैं, लेकिन सपा परिवार की इस लड़ाई से प्रदेश की जनता का नुकसान हो रहा है।”
“अखिलेश जी, अगर आप सरकार नहीं चला सकते हैं तो आज ही चुनाव आयोग को लिखकर दे दो। हम चुनाव के लिए तैयार हैं।”

मैं कम्‍युनल बनने को तैयार: कैराना सांसद हुकुम सिंह
इससे पहले कैराना से सांसद हुकुम सिंह ने कहा, “मैं जब भी हिंदुओं के पलायन का मुद्दा उठाता हूं, सेक्‍युलर लोग कहते हैं कि मैं कम्‍युनल हूं।”
“ऐसे लोगों की जिंदगी बचाने के लिए मैं कम्‍युनल बनने को भी तैयार हूं।”
“मुझे इस बात की खुशी है कि मेरी पार्टी मुझे इस मामले में पूरी तरह सपोर्ट कर रही है।”
“गृहमंत्री जी ने मुझे कई बार यहां के हालात जानने के लिए बुलाया। अमित शाह जी ने भी कहा कि समय आने दीजिए। अगर हमारी सरकार बनती है कि पलायन को रोकेंगे। साथ ही, जिन्‍होंने पलायन के लिए लोगों को मजबूर किया है, उन्‍हें यहां रहने नहीं दिया जाएगा।”
बता दें, हुकुम सिंह पर आरोप है कि हिंदुओं के पलायन के लिए मुस्लिमों को जिम्‍मेदार मानते हैं।
बता दें, इसी साल सितंबर महीने में एनएचआरसी ने यूपी सरकार से कैराना मामले पर रिपोर्ट मांगी थी।
कैराना में मुसलमानों को बहुसंख्‍यक और हिंदुओं को अल्‍पसंख्‍यक बताते हुए एनएचआरसी ने कहा था कि 25 से 30 हजार मुसलमानों के पुनर्वास से कैराना में डेमोग्राफी चेंज हो गई।

Courtesy: Bhaskar.com

Related Articles