INDvsENG राजकोट टेस्ट : 3 विकेट के बाद जूझ रहे टीम इंडिया के बॉलर, रूट और अली ने गाड़े पैर

INDvsENG राजकोट टेस्ट : 3 विकेट के बाद जूझ रहे टीम इंडिया के बॉलर, रूट और अली ने गाड़े पैर

राजकोट: लगभग 30 साल बाद भारतीय धरती पर 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेल रहे इंग्लैंड और टीम इंडिया के बीच सीरीज का पहला टेस्ट राजकोट में जारी है. सौराष्ट्र क्रिकेट स्टेडियम में खेले जा रहे मैच में टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए इंग्लैंड ने लंच के बाद 3 विकेट पर 178 रन बना लिए हैं. जो रूट (78) और मोइन अली (33) क्रीज पर हैं. ओपनर एलिस्टर कुक (21) और हसीब हमीद (31) दोनों को दो-दो जीवनदान मिले. हालांकि दोनों कोई बड़ा स्कोर नहीं बना पाए. टीम इंडिया 5 गेंदबाजों के साथ उतरी है. आर अश्विन ने दो, तो रवींद्र जडेजा ने एक विकेट चटकाया है. टेस्ट मैचों में लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रही टीम इंडिया का मुकाबला अब ऐसी टीम से हो रहा है, जिसने उसे पिछली 3 टेस्ट सीरीज में हराया है.

लंच के बाद इंग्लैंड ने सधी हुई शुरुआत की और लंच से पहले के नाबाद बल्लेबाज जो रूट और मोइन अली ने पारी को आगे बढ़ाया. इस बीच रूट ने 43वें ओवर में आर अश्विन की गेंद पर सिंगल लेकर टेस्ट करियर की 24वीं फिफ्टी पूरी की. रूट और अली के बीच 50 रन से अधिक की साझेदारी हो चुकी है.

लंच से पहले 32.3 ओवर, जडेजा-अश्विन छाए, 4 कैच छूटे
भारतीय तेज गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की और उनकी गेंदों ने इंग्लैंड के ओपनरों के बैट का किनारा भी लिया, लेकिन भारत की फील्डिंग स्तरीय नहीं रही और उसने दोनों ओपनरों को दो-दो मौके दे दिए. खुद कप्तान विराट कोहली ने दो मौके गंवाए, जबकि टीम इंडिया के बेस्ट फील्डर माने जाने वाले अजिंक्य रहाणे और मुरली विजय ने एक-एक कैच टपकाया. जब टीम इंडिया को सफलता मिलती नहीं दिखी, तो कप्तान कोहली ने 11वें ओवर में ट्रंप कार्ड आर अश्विन को गेंद सौंप दी. अश्विन ने इंग्लिश बल्लेबाजों को छकाया तो लेकिन विकेट नहीं ले सके. लंच से पहले के 15 ओवर में इंग्लैंड ने 47 रन बनाए और उनका कोई भी विकेट नहीं गिरा.

कुल 4 कैच छोड़ने के बाद दबाव में दिख रही टीम इंडिया को ‘सर’ रवींद्र जडेजा ने अपनी फिरकी से राहत पहुंचाई और दो जीवनदान के साथ खेल रहे इंग्लिश कप्तान एलिस्टर कुक (21) को कोई और मौका नहीं देते हुए 16वें ओवर में पगबाधा आउट किया. कुक और हसीब हमीद के बीच 47 रन की साझेदारी हुई. उनके पास रिव्यू का मौका था, लेकिन उन्होंने साथी ओपनर हसीब हमीद से चर्चा के बाद इसे नहीं आजमाने का फैसला किया. इसके बाद हमीद और जो रूट ने 29 रन जोड़े, लेकिन दो जीवनदान के सहारे खेल रहे हमीद को अश्विन ने पगबाधा कर पैवेलियन भेज दिया. उस समय इंग्लैंड का स्कोर 76 रन था. हमीद ने अंपायर कुमार धर्मसेना के फैसले को चुनौती दी और मैच का पहला डीआरएस लिया, लेकिन थर्ड अंपायर ने उन्हें आउट करार दिया. उस समय इंग्लिश टीम का स्कोर 76 रन था. इंग्लैंड के स्कोर में 26 रन और जुड़े थे कि 102 के स्कोर पर अश्विन ने बेन डकेट (13) को स्लिप पर कैच करा दिया. उन्हें कुक का कैच टपकाने वाले अजिंक्य रहाणे ने स्लिप पर लपका. इस प्रकार इंग्लैंड ने लंच से पहले के 33वें ओवर की तीसरी गेंद पर विकेट खो दिया.

कुक-हमीद दोनों रहे दो-दो बार लकी
टीम इंडिया को पहले ही ओवर में सफलता मिलते-मिलते रह गई, जब मोहम्मद शमी की तीसरी गेंद पर गली में खड़े अजिंक्य रहाणे ने उनका कैच टपका दिया. उस समय इंग्लैंड और कुक ने खाता भी नहीं खोला था. इसके बाद दूसरे ही ओवर में उमेश यादव की दूसरी गेंद पर दूसरी स्लिप पर कप्तान विराट कोहली ने कुक (1 रन) को दूसरा जीवनदान दे दिया. कुक के बाद पहला टेस्ट खेल रहे हसीब हमीद को भी दो जीवनदान मिले. छठे ओवर में उमेश यादव की पांचवीं गेंद पर हमीद का 14 के निजी स्कोर पर कैच छूट गया, जब पहली स्लिप पर खड़े मुरली विजय के हाथों से गेंद छिटक गई. हमीद को इसी स्कोर पर दूसरा जीवनदान भी मिला, जब शमी की लेंथ बॉल को हमीद समझ नहीं सके और वह बल्ले का किनारा लेकर दूसरी स्लिप की ओर गई. कप्तान विराट ने बाईं ओर डाइव लगाकर पकड़ने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हुए. हालांकि यह कैच थोड़ा मुश्किल था.

हमीद का डेब्यू
इंग्लैंड टीम से ओपनर हसीब हमीद को मौका दिया गया है. 19 साल के हसीब हमीद का नाम पिछले महीने बांग्लादेश दौरे पर इंग्लैंड टीम की घोषणा के बाद चर्चा में आया था. हमीद को टीम में ओपनर एलेक्स हेल्स द्वारा आतंकी हमले के डर से नाम वापस लेने के बाद लिया गया था. हालांकि उन्हें बांग्लादेश के खिलाफ अपने टेस्ट करियर का आगाज करने का मौका नहीं मिला, लेकिन भारत-इंग्लैंड के बीच सीरीज के पहले टेस्ट में हमीद को अंतिम ग्यारह में शामिल कर लिया गया है. ऐसे में वह इंग्लैंड की तरफ टेस्ट क्रिकेट में ओपनिंग करने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बन गए हैं. वर्तमान में हसीब की उम्र सिर्फ 19 वर्ष 297 दिन है.

haseeb-hameed_650x400_41474035618

इंग्लैंड से पिछली 3 सीरीज हारे
टीम इंडिया 2008 के बाद से इंग्लैंड को नहीं हरा पाई. पिछली बार इंग्लैंड ने 2012 में भारत का दौरा किया था और उसके स्पिनरों ने भारतीय बल्लेबाजों की जमकर परीक्षा ली थी और इंग्लैंड को 2-1 से जीत दिला दी थी. वैसे टीम इंडिया ने इंग्लैंड के खिलाफ आखिरी सीरीज 2014 में इंग्लैंड में ही खेली थी, जिसमें अंग्रेजों ने उसे 3-1 से हराया था. उस समय टीम इंडिया के कप्तान एमएस धोनी थे.

30 साल बाद 5 टेस्ट, अजहर ने लगाई थीं लगातार 3 सेंचुरी
1984-85 के बाद भारत पहली बार दोनों देशों के बीच पांच मैचों की टेस्ट सीरीज की मेजबानी कर रहा है. इससे पहले की 5 टेस्ट की सीरीज में भारत के कप्तान सुनील गावस्कर और इंग्लैंड के कप्तान डेविड गावर थे. मोहम्मद अजहरुद्दीन ने इसी टेस्ट सीरीज में अपने पहले तीन टेस्ट में शतकों की हैट्रिक (110 रन, 105 रन और 122 रन) का विश्व रिकार्ड बनाया था

पहली बार डीआरएस
भारत और इंग्लैंड के बीच खेली जा रही यह सीरीज भारतीय धरती पर पहली ऐसी टेस्ट सीरीज है, जिसमें निर्णय समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) का उपयोग किया जा रहा है, जिसे अपनाने में भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) लगातार पीछे हटता आ रहा था. भारत ने अंतिम बार 2008 में श्रीलंका के खिलाफ उसकी सरजमीं पर डीआरएस का इस्तेमाल किया था.

टीमें इस प्रकार हैं…
भारत : विराट कोहली (कप्तान), मुरली विजय, गौतम गंभीर, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे (उप-कप्तान), रविचंद्रन अश्विन, ऋद्धिमान साहा (विकेटकीपर), रवींद्र जडेजा, अमित मिश्रा, मोहम्मद समी, उमेश यादव.

इंग्लैंड : एलिस्टर कुक (कप्तान), जॉनी बेयरस्टो, स्टुअर्ट ब्रॉड, बेन डकेट, हसीब हमीद, मोइन अली, जफर अंसारी, आदिल राशिद, जोए रूट, बेन स्टोक्स, क्रिस वोक्स

Courtesy: NDTV

Categories: Sports

Related Articles