सावधान टीम इंडिया! ‘पलटवार’ के लिए मशहूर है एलिस्‍टर कुक की इंग्‍लैंड टीम, दो बार कर चुकी है ऐसा

सावधान टीम इंडिया! ‘पलटवार’ के लिए मशहूर है एलिस्‍टर कुक की इंग्‍लैंड टीम, दो बार कर चुकी है ऐसा

नई दिल्‍ली: विराट कोहली के नेतृत्‍व वाली टीम इंडिया ने विशाखापटनम टेस्‍ट मैच जीतकर इंग्‍लैंड के खिलाफ पांच मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली. राजकोट टेस्‍ट में संघर्ष के बाद हार टालने वाली कोहली ब्रिगेड का यह पलटवार वाकई काबिलेतारीफ है. जाहिर है एलिस्‍टर कुक के नेतृत्‍व वाली इंग्‍लैंड टीम के खिलाफ 246 रन की इस प्रभावशाली जीत के बाद टीम के सभी खिलाड़ी उत्‍साह से भरे हुए हैं. उम्‍मीद है कि आगे के मैचों में इसी तरह का प्रदर्शन करते हुए टीम इंडिया सीरीज अपने नाम करके वर्ष 2014 में इंग्‍लैंड के खिलाफ उसके मैदान में मिली 1-3 की हार का हिसाब बराबर करने में कामयाब रहेगी. सीरीज का तीसरा टेस्‍ट 26 नवंबर से मोहाली में खेला जाना है.

बेशक विशाखापटनम टेस्‍ट में भारतीय खिलाड़ि‍यों खासकर कप्‍तान विराट कोहली ने बेहतरीन प्रदर्शन किया है, लेकिन आगे के मैचों में उसे अति आत्‍मविश्‍वास से बचना होगा. इसका कारण यह है कि कुक के नेतृत्‍व वाली इंग्‍लैंड टीम पलटवार करने में माहिर है. भारत के खिलाफ दो मैचों पर इंग्लिश टीम ऐसा कर चुकी है. वर्ष 2012में भारत में खेली गई चार टेस्‍ट की सीरीज में इंग्‍लैंड को अहमदाबाद में हुए पहले टेस्‍ट में हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस झटके से उबरते हुए मेहमान टीम ने न सिर्फ अपने प्रदर्शन को बेहतर किया बल्कि अगले दो टेस्‍ट जीतकर 2-1 के अंतर से सीरीज को अपने नाम करने में कामयाब रही थी. महेंद्र सिंह धोनी की कप्‍तानी में खेली गई इस सीरीज के अंतर्गत नागपुर में खेला गया आखिरी टेस्‍ट मैच ड्रॉ समाप्‍त हुआ था.

‘कुक आर्मी’ ने इसी तरह का प्रदर्शन 2014 में अपने घर में हुई सीरीज इस तरह के प्रदर्शन को दोहराया था. उस समय नाटिंघम में खेला गया पहला टेस्‍ट ड्रॉ समाप्‍त हुआ था, लेकिन लार्ड्स में हुए दूसरे टेस्‍ट में टीम इंडिया ने भुवनेश्‍वर कुमार के दोहरे प्रदर्शन (36 और 52 रन और पहली पारी में 82 रन देकर 6 विकेट) की बदौलत 95 रन से जीत हासिल की थी. इस मैच की दूसरी पारी में सात विकेट लेने वाले इशांत शर्मा ‘मैन ऑफ द मैच’ रहे थे.

इस समय सीरीज में एमएस धोनी के नेतृत्‍व वाली भारतीय टीम 1-0 की बढ़त पर थी. सीरीज में बढ़त हासिल करने के बाद भारतीय टीम आत्‍मविश्‍वास से लबरेज थी लेकिन अगले तीन टेस्‍ट में इंग्‍लैंड की टीम पूरी तरह से बदली हुई नजर आई. उसने साउथम्‍पटन, मैनचेस्‍टर और ओवल टेस्‍ट में जीत हासिल करते हुए भारतीय टीम को पूरी तरह बैकफुट पर ला दिया था. पांच मैचों की यह सीरीज 3-1 से इंग्‍लैंड के नाम रही थी.

इंग्‍लैंड टीम अब फिर भारत में टीम इंडिया के सामने हैं. स्थिति इस लिहाज से बदली हुई है कि अब कप्‍तान एमएस धोनी के स्‍थान पर विराट कोहली हैं. लेकिन पिछली दो सीरीज की तरह इंग्‍लैंड एक बार फिर पलटवार करने की कोशिश करेगी. जाहिर है टीम इंडिया को लगातार श्रेष्‍ठ प्रदर्शन करते हुए यह मौका कैप्‍टन कुक की टीम को नहीं देना होगा…
भारत में 2012 में हुई टेस्‍ट सीरीज पर एक नजर

अहमदाबाद टेस्‍ट, नवंबर 2012 : भारत 9 विकेट से जीता
मुंबई टेस्‍ट, नवंबर 2012: इंग्‍लैंड 10 विकेट से जीता
कोलकाता टेस्‍ट, दिसंबर 2012: इंग्‍लैंड सात विकेट से जीता

नागपुर टेस्‍ट, दिसंबर 2012: मैच ड्रॉ रहा था

सीरीज का परिणाम: इंग्‍लैंड ने चार टेस्‍ट की सीरीज 2-1 से जीती थी.

नाटिंघम टेस्‍ट, जुलाई 2014 : मैच ड्रॉ
लाडर्स टेस्‍ट, जुलाई 2014: भारत 95 रन से जीता
साउथम्‍पटन टेस्‍ट, जुलाई 2014: इंग्‍लैंड 266 रन से जीता
मैनचेस्‍टर टेस्‍ट, अगस्‍त 2014: इंग्‍लैंड एक पारी 54 रन से जीता (मैच का फैसला तीन दिन में हुआ)
ओवल टेस्‍ट, अगस्‍त 2014: इंग्‍लैंड ने एक पारी 244 रन से जीत दर्ज की (मैच का फैसला तीन दिन में हुआ)

परिणाम : इंग्‍लैंड ने पांच टेस्‍ट की सीरीज 3-1 से जीती.

Courtesy: NDTV

Categories: Sports