क्लिंटन को दुखी नहीं करना चाहते ट्रंप! राष्ट्रपति बनने जा रहे डोनल्ड ने लिया ‘यू-टर्न’

क्लिंटन को दुखी नहीं करना चाहते ट्रंप! राष्ट्रपति बनने जा रहे डोनल्ड ने लिया ‘यू-टर्न’

अमेरिका के नव-निर्वाचित राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप ने हिलेरी ईमेल विवाद और जलवायु परिवर्तन के मसले पर ‘यू-टर्न’ ले लिया है. ट्रंप ने ‘न्यूयॉर्क टाइम्स’ के एडिटर्स और रिपोर्टर्स से विभिन्न मसलों पर बात की है. ट्रंप की यह बातचीत अखबार के मैनहटन दफ्तर में हुई. इस दौरान ट्रंप ने जलवायु परिवर्तन से लेकर इजराइल-फिलिस्तीन संघर्ष समेत तमाम मुद्दों अपने विचार रखे.

जानिए ट्रंप के इंटरव्यू की खास बातें:

1. राष्ट्रपति चुनाव में प्रतिद्वंद्वी रहीं हिलेरी क्लिंटन से जुड़े ईमेल विवाद पर ट्रंप ने कहा कि वो उन्हें दुख पहुंचाना नहीं चाहते. ट्रंप ने कहा कि हिलेरी के विदेश मंत्री रहते गोपनीय सूचनाओं का मसला हो या क्लिंटन फाउंडेशन का मामला, वो इनकी आगे जांच नहीं कराएंगे. ट्रंप ने कहा, ‘हिलेरी वैसे ही काफी झेल चुकी हैं. ऐसे में हिलेरी या बिल क्लिंटन को सजा देना ठीक नहीं होगा. गौरतलब है कि ट्रंप ने चुनाव प्रचार के दौरान हिलेरी को जेल में डालने की बात कही थी. ट्रंप के समर्थकों के बीच ‘हिलेरी को जेल में बंद करो’ नारा भी खूब मशहूर हुआ था.

2. जलवायु परिवर्तन के मसले पर ट्रंप ने कहा, ‘मेरा मानना है कि मानव और जलवायु परिवर्तन के बीच कुछ संबंध है. मैं इस मसले को बेहद गंभीरता से देख रहा हूं.’ इससे पहले चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप ने कहा था कि ग्लोबल वार्मिंग कुछ नहीं, बल्कि इसका हौव्वा बनाया जा रहा है. जलवायु परिवर्तन से जुड़े 2015 के पेरिस समझौते पर ट्रंप ने कहा, ‘मैं इसपर खुले मन से बात करना चाहता हूं.’ चुनाव प्रचार के दौरान ट्रंप ने इस समझौते को रद्द करने का वादा किया था.

3. भारतीय बिजनेस पार्टनर्स से मिलने के सवाल पर ट्रंप ने कहा, ‘अगर किसी काम से भारत के साथ रिश्ते और बेहतर होते हैं, तो यह अच्छी बात है. भारत से जो पार्टनर आए हैं, वे बेहद कामयाब लोग हैं.’

4. अपने दामाद जैरेड की भूमिका पर ट्रंप ने कहा कि वो उन्हें वह जिम्मेदारी देंगे, जो कोई पूरा नहीं कर पाया. ट्रंप चाहते हैं कि उनके दामाद इजराइल-फिलीस्तीन विवाद सुलझाने में उनकी मदद करें. जैरेड यहूदी हैं.

5. ट्रंप ने भरोसा दिया कि उनका इरादा कुछ क्षेत्रों में चरमपंथी रुख अपनाने का नहीं है. ट्रंप ने हाल ही में वाशिंगटन में एक श्वेत राष्ट्रवादी सम्मेलन को पूरी तरह खारिज कर दिया था.

6. ट्रंप ने कहा कि बतौर राष्ट्रपति खुद को अपने कारोबार से दूर रखेंगे. उन्होंने कहा, ‘मुझे अपनी कंपनी की कोई फिक्र नहीं है. मेरे बच्चे मेरा बिजनेस देख लेंगे और चला लेंगे.

7. राष्ट्रपति चुनाव जीतने के बाद बराक ओबामा से अपनी मुलाकात के बारे में ट्रंप ने कहा कि इससे पहले वो ओबामा से कभी नहीं मिले थे. ट्रंप ने कहा, ‘हम दोनों काफी अलग हैं. मुझे लगा था मैं उन्हें पसंद नहीं करूंगा, लेकिन वो मुझे अच्छे लगे.’

8. सीरिया पर हमले को ट्रंप ने भयानक भूल करार दिया. उन्होंने कहा कि सीरिया समस्या का समाधान खोजना होगा. सीरिया पर हमला रूस पर हमले जैसा है. सीरिया को लेकर मेरे पास बहुत मजबूत आइडिया है.

9. ट्रंप ने कहा कि राष्ट्रपति बनने के बाद अपनी सरकार में परिवार के सदस्यों से किसी तरह की जानकारी नहीं लेंगे और न ही उनके कामकाज में परिवार के किसी सदस्य का दखल होगा.

10. ट्रंप ने कहा कि मीडिया से रिश्ते के मामले में वो एक गैर-पारंपरिक राष्ट्रपति साबित होंगे.

Courtesy: Aajtak

Categories: International

Related Articles