रुपये का लुढ़कना जारी, अगस्त 2013 के बाद डॉलर के मुकाबले सबसे कमजोर स्तर पर पहुंचा

रुपये का लुढ़कना जारी, अगस्त 2013 के बाद डॉलर के मुकाबले सबसे कमजोर स्तर पर पहुंचा

डॉलर के मुकाबले रुपये में गिरावट का रुख बना हुआ है. गुरुवार की सुबह 28 पैसे की गिरावट के साथ भारतीय मुद्रा की कीमत 68.84 प्रति डॉलर पहुंच गई. यह बीते 39 महीने में रुपये की सबसे कम कीमत के काफी नजदीक है. अगस्त 2013 में डॉलर के मुकाबले रुपये की कीमत 68.85 तक पहुंच गई थी. फाइनेंशियल एक्सप्रेस के मुताबिक रुपये को संभालने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने विदेशी मुद्रा बाजार में हस्तक्षेप किया है. ट्रेडर्स ने बताया कि केंद्रीय बैंक ने रुपये के समर्थन में 50 करोड़ डॉलर की बिक्री की है. इससे रुपए में थोड़ा सुधार आया और शुरुआती गिरावट के बाद इसकी कीमत 68.74/75 पहुंच गई.

विदेशी मुद्रा कारोबार से जुड़े लोगों के मुताबिक महीने के अंत में आयातकों की ओर से डॉलर की मांग बढ़ने, भारतीय बाजार से विदेशी फंड की निकासी और डॉलर की मजबूती के चलते रुपया कमजोर पड़ा है. इसके पीछे अमेरिका में डोनाल्ड ट्रंप की जीत और नोटबंदी के फैसले का असर माना जा रहा है.

ट्रंप की जीत के बाद डॉलर मजबूत हुआ है, जबकि रुपये में 2.92 फीसदी गिरावट आयी है. इकनॉमिक टाइम्स के मुताबिक ट्रंप की जीत के बाद विदेशी निवेशकों ने दो अरब डॉलर के विदेशी बॉन्डों की बिक्री की है. इसके अलावा नोटबंदी से भारतीय अर्थव्यवस्था के प्रभावित होने की आशंका से भी कई निवेशक अपना पैसा निकाल रहे हैं.

गुरुवार को शेयर बाजार में भी गिरावट का रुख दिख रहा है. शुरुआती कारोबार के दौरान बीएसई सेंसेक्स में 145.97 अंक गिरकर 25,905.84 अंक पहुंच गया. रिपोर्ट के मुताबिक आने वाले समय में रुपये की कीमत में और गिरावट आ सकती है. अगले कुछ महीनों में इसके 70 रुपये प्रति डॉलर तक पहुंच जाने की आशंका जताई जा रही है.

Courtesy: satyagrah scroll

Categories: Finance