पदक जीतकर लौटे यूपी बास्केटबॉल अंडर-16 पुरुष और महिला टीम का स्वागत

पदक जीतकर लौटे यूपी बास्केटबॉल अंडर-16 पुरुष और महिला टीम का स्वागत

मेरठ  यूपी बास्केटबॉल की अंडर-16 पुरुष और महिला टीम ने कर्नाटक में हुई नेशनल बास्केटबॉल चैंपियनशिप में पदक जीतकर यूपी का गौरव बढ़ाया। 33वीं राष्ट्रीय यूथ बास्केटबॉल चैंपियनशिप कर्नाटक के हासन में 19 से 26 नवंबर को संपन्न हुई। देशभर से टीमों ने हिस्सा लिया। अक्टूबर-2016 में यूपी से पुरुष और महिला की अंडर-16 बास्केटबॉल की 22 टीमों ने पीटीएस के खेलों में भाग लिया। पुरुष और महिलाओं में से 12-12 खिलाडिय़ों का चयन कर्नाटक नेशनल चैम्पियनशिप के लिए किया गया। जहां मुकाबले में यूपी की पुरुष टीम ने सिलवर और महिला टीम ने कांस्य पदक जीता। पदक जीतकर दोनों ही टीमें मंगलवार को यहां पुलिस टे्रनिंग स्कूल पहुंचीं, जहां पर यूपी बास्केटबॉल के अध्यक्ष और एडीजी पीटीएस आलोक शर्मा ने स्वागत किया। पुरुष टीम के कोच विभोर विंगवंशी ने बताया कि वर्ष-2008 के बाद पहली बार पुरुष टीम ने नेशनल चैंपियनशिप में जीत हासिल कर सिल्वर मेडल पाया है, वहीं महिला टीम के कोच अभय राठौर का कहना है कि वर्ष-2010 के बाद अंडर-16 महिला टीम ने कांस्य पदक पर अपना कब्जा किया है।
जीत के लिए लगा दी पूरी जान
कर्नाटक में हुई नेशनल 33वीं राष्ट्रीय यूथ बास्केटबॉल चैंपियनशिप में यूपी की महिला और पुरुष टीम के 24 खिलाडिय़ों ने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।
जागृति विहार सेक्टर दो निवासी भाग्यांश सेंट जोंस सीनियर सेकेंडरी स्कूल के छात्र हैं। उन्होंने माना कि यूपी टीम में चयन के बाद ही जीत पक्की मान ली थी।
बनारस के प्रसून मिश्रा उदय प्रताप इंटर कालेज, बनारस के छात्र हैं। प्रसून ने कहा कि जीत के लिए मैदान में उतना फायदेमंद रहा और हम जीते।
बागपत के छपरौली क्षेत्र में गांव सबगा निवासी प्रियांशु राष्ट्रीय इंटर कालेज के छात्र हैं। बताया कि टूर्नामेंट में खेलने का मतलब सिर्फ जीत ही मकसद था।
इलाहाबाद के छोटा बघाड़ा निवासी वैष्णवी यादव इंटरनेशनल बास्केटबॉल खिलाड़ी हैं। वैष्णवी 2015 में यूपी की तरफ से नेशनल टीम में चुनी गई थीं, तब वह एडीजी पीटीएस आलोक शर्मा की बेटी के साथ इंडोनेशिया में हुए टूर्नामेंट में शामिल हुई थीं।
गोरखपुर निवासी हर्षिता पांडे वहां के एमपी गल्र्स इंटर कालेज की छात्रा हैं। कालेज और स्टेडियम की ओर से बास्केटबॉल खेलती हैं।
बनारस के होलपुर-शिवपुर निवासी शिवानी गुप्ता एचसीपी इंटर कालेज की छात्रा हैं। जीत का श्रेय उसने अपने एडीजी पीटीएस, कोच और माता-पिता को दिया।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Regional

Related Articles