पापा को दुकान से बुलाने गया था बेटा, पहुंचा तो ये नजारा देख रह गया हैरान

पापा को दुकान से बुलाने गया था बेटा, पहुंचा तो ये नजारा देख रह गया हैरान

कानपुर. यूपी के कानपुर में रविवार को एक 59 साल के बुजुर्ग ने अपनी शॉप में फांसी लगाकर सुसाइड कर लिया। शॉप पहुंचे उनके बेटे ने जब पिता को पंखे से लटकते देखा तो उसके होश उड़ गए। जानकारी पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच की, तो उसकी हिसाब-किताब की डायरी में सुसाइड नोट मिला। जिसमें लिखा था- ‘200 रुपए सब्जी वाले राजा के, 39 रुपए बटन वाले दादा के सिवा किसी का मेरे ऊपर उधार नहीं हैं। दुकान मालिक को कुछ ना कहा जाए, मेरी मौत का कोई जिम्मेदार नहीं हैं।’ आगे पढ़िए पूरा मामला …

मामला गोविंद नगर थानाक्षेत्र जेपी कालोनी का है। यहां मेरठ से आकर रहने वाले नरेश वर्मा (59) टेलर का काम करते थे।

परिवार में पत्नी कांता बड़ी बेटी दीपा (24),  छोटी आकांक्षा (20) बेटा आदित्य (17) के साथ रहते थे। यह परिवार में अकेले कमाने वाले थे, जिससे परिवार का खर्च नहीं चल पा रहा था।

मृतक के ससुर सतपाल के मुताबिक, नरेश की टेलर की शॉप चरण जीत कालोनी में थी। रेडीमेड गारमेंट्स के चलन की वजह से इनकी टेलर की दुकान भी मंदी चल रही थी।

बीते शनिवार नरेश यह कह कर दुकान चला गया कि दिन में बिजली रहती है इसलिए रात में अधूरा काम निपटा दूंगा। घर से खाना खा कर दुकान चला गया।

हिसाब किताब की बुक में मिला सुसाइड नोट

रविवार सुबह तक जब वह घर वापस नहीं लौटा तो बेटा पिता को लेने दुकान पहुंचा। पिता को पंखे से लटकते देख उसके होश उड़ गए।

मृतक के बेटे ने परिजनों और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की तफ्तीश की तो उन्हें इसकी हिसाब-किताब की डायरी में सुसाइड नोट मिला।

उसमें लिखा था ”200 रुपए सब्जी वाले राजा के, 39 रुपए बटन वाले दादा के सिवा और किसी का मेरे ऊपर उधार नहीं है। दुकान मालिक को कुछ ना कहा जाए बहुत सीधे है, मेरी मौत का कोई जिम्मेदार नहीं है।’

शॉप मालिक मुन्नू के मुताबिक, नरेश वर्मा ने 7  साल पहले शॉप किराए पर ली थी। यह बेहद ईमानदार व्यक्ति था और इसकी किसी से कोई दुश्मनी भी नहीं थी।

बेटी की शादी की चिंता में थे परेशान

मृतक की बेटी आकांक्षा ने बताया, बड़ी बहन दीपा ट्यूशन पढ़ाती है और छोटा भाई ने इसी साल इंटर पास किया है।

उसने बताया, पापा सबसे ज्यादा परेशान थे क्योकि बड़ी बहन की शादी नहीं हो पा रही थी। जहां भी लड़का देखा जाता था वहां डिमांड होती थी।

क्या कहना है पुलिस का  ?

गोविन्द नगर इंस्पेक्टर फरमुद अली पुंडीर के मुताबिक,  युवक ने अपनी शॉप में फांसी लगाई है। उसके पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है।

उसके शव को पंखे से उतार, कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया गया है।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: Crime