जयललिता का निधन, पनीरसेल्वम होंगे CM, तमिलनाडु के स्कूल-कॉलेजों में 3 दिन की छुट्टी

जयललिता का निधन, पनीरसेल्वम होंगे CM, तमिलनाडु के स्कूल-कॉलेजों में 3 दिन की छुट्टी

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री और AIADMK पार्टी प्रमुख जे जयललिता का सोमवार रात को निधन हो गया. अपोलो अस्पताल के मुताबिक, जयललिता ने रात 11:30 बजे अंतिम सांस ली और उसके बाद उनका लाइफ सपोर्ट सिस्टम हटा लिया गया.

इससे पहले शाम में जयललिता के निधन की अटकलें चली थीं, जिसे अपोलो अस्पताल ने तुरंत खा‍रिज कर दिया था. तमिल चैनलों ने जयललिता के निधन की खबर दी थी

ओ पनीरसिल्वम होंगे तमिलनाडु के मुख्यमंत्री
जयललिता के निधन पर पीएम मोदी ने ट्वीट कर दुख जताया है और उन्होंने कहा कि उनकी आत्मा को शांति मिले. वहीं तमिलनाडु में तीन दिन के लिए शोक की घोषणा की गई है, जिससे सभी स्कूल-कॉलेजों में 3 दिन के लिए छुट्टी की घोषणा कर दी गई है. वहीं AIADMK पार्टी ने ओ पनीरसिल्वम को नया विधायक दल का नेता चुन लिया गया है, यानी जयललिता के बाद अब पनीरसिल्वम तमिलनाडु के मुख्यमंत्री होंगे.

अपोलो ने जयललिता के निधन की खबर की खारिज, पार्टी विधायकों की बैठक टली जयललिता की सेहत को लेकर अटकलों को तब बढ़ावा मिला, जब पार्टी मुख्यालय में झंडा आधा झुका दिया गया. हालांकि कुछ मिनटों बाद झंडे को फिर से ऊपर कर दिया गया. अपोलो अस्पताल की तरफ से बताया गया कि अपोलो और एम्स के डॉक्टरों की टीम जयललिता का लगातार इलाज कर रही है.

डॉक्टरों के मुताबिक जयललिता को रविवार दोपहर करीब तीन बजे दिल का दौरा पड़ा था, जिसके बाद विशेषज्ञ डॉक्टरों की टीम की निगरानी में चेन्नई के अपोलो अस्पताल में उनका इलाज चल रहा है.

पार्टी मुख्यालय में शाम को विधायकों की बैठक बुलाई गई, जिसे रात तक के लिए स्थगित कर दिया गया था. शाम को केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू अपोलो पहुंचकर जयललिता के स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी ली.

जयललिता को दिल का दौरा पड़ने के बाद फिर से अपोलो अस्पताल के सीसीयू में हार्ट असिस्ट डिवाइस पर रखा गया. जयललिता पिछले 74 दिनों से अपोलो अस्पताल में भर्ती थीं और रविवार को ही पार्टी की तरफ से उनके पूरी तरह से ठीक होने की खबर भी आई थी. जयललिता के स्वास्थ्य को लेकर अपोलो अस्पताल ने लंदन के डॉक्टर रिचर्ड से संपर्क किया था और दिल्ली के एम्स से डॉक्टरों की एक टीम भी इलाज के लिए चेन्नई के अपोलो अस्पताल पहुंची थी.

अस्पताल के बाहर मची अफरातफरी
सीएम जयललिता के निधन की खबर मिलते ही उनके समर्थकों समेत पूरे में शोक की लहर दौड़ गई है. उनके चाहने वालों के आंखों से आंसू थमने का नाम नहीं ले रहा है. अस्पताल के बाहर अम्मा के समर्थकों ने रोना-धोना शुरू कर दिया है. वैसे रविवार देर शाम ही जब अम्मा के चाहने वालों को दिल का दौरा पड़ने की खबर मिली तो अस्पताल के बाहर उमड़े पड़े, और अम्मा की सलामती के लिए हाथ जोड़कर दुआ करते दिखे.

मुंबई से चेन्नई पहुंचे राज्यपाल
रविवार के दिन जयललिता को दिल का दौरा पड़ने की खबर मिलते ही तमिलनाडु के राज्यपाल सी विद्यासागर राव मुंबई अपने सभी कार्यक्रम छोड़कर चेन्नई लौट आए थे. वो चेन्नई पहुंचते ही सबसे पहले अपोलो अस्पताल पहुंचे और वहां से 10 मिनट के बाद राजभवन चले गए. अम्मो को हार्ट अटैक के बाद अपोलो अस्पताल में ही रविवार को तमिलनाडु सरकार की कैबिनेट की आपात बैठक हुई, जिसमें तमाम मंत्री शामिल हुए. गंभीर हालत की भनक तब ही लग गई थी कि जब राज्यपाल अपनी यात्रा छोड़ चेन्नई रवाना हो गए और AIADMK सांसदों को दिल्ली से चेन्नई पहुंचने के लिए पार्टी ने आदेश जारी कर दिया.

पूरे राज्य में अलर्ट जारी
वहीं राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए अस्पताल के बाहर 200 से ज्यादा पुलिसकर्मियों को तैनाती कर दी गई. साथ ही चेन्नई समेत राज्य के दूसरे हिस्सों में अर्द्धसैनिक बलों को अलर्ट रहने का आदेश दिया गया है. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी राज्यपाल से बात कर पूरे हालात की जानकारी ली.

22 सितम्बर से अस्पताल में थीं भर्ती
गौरतलब है कि 68 साल की अन्नाद्रमुक सुप्रीमो जयललिता 22 सितम्बर से चेन्नई के अपोलो अस्पताल में भर्ती थीं. 15 दिन पहले तक उन्हें CCU में रखा गया था, हालात में सुधार के बाद उन्हें सामान्य वार्ड में शिफ्ट किया गया. जयललिता को बुखार और डिहाइड्रेशन की शिकायत के बाद अस्पताल लाया गया था, बाद में जयललिता को सांस लेने में भी दिक्कत होने लगी थी.

 

Courtesy:Aajtak

Categories: Politics

Related Articles