83 सालों में पहली बार वानखेड़े में कोई मुंबईकर भारतीय टीम में नहीं

मुंबई: ऐसा 1933 के बाद पहली बार हुआ है कि भारतीय क्रिकेट टीम यहां कोई टेस्ट खेल रही है और अंतिम एकादश में मुंबई का कोई क्रिकेटर नहीं है.

मुंबई के खिलाड़ी शरदुल ठाकुर टीम में है लेकिन उन्हें अंतिम एकादश में मौका नहीं मिल सका है.

बांबे जिमखाना में 1933 में हुए टेस्ट के बाद से भारतीय टीम ने यहां ऐसा कोई टेस्ट नहीं खेला है जिसमें अंतिम एकादश में मुंबई का कोई क्रिकेटर नहीं रहा हो.

अजिंक्य रहाणे चोट के कारण बाहर दो मैचों से बाहर हो गए हैं जबकि मोहम्मद शमी के कवर के तौर पर बुलाये गए ठाकुर को भी मौका नहीं मिल सका है.

इस मैदान पर यह 25वां टेस्ट है जिसने 1974 . 75 में पहले टेस्ट की मेजबानी की थी.

Courtesy: ABPNews

Categories: Sports

Related Articles