नोटबंदी पर राहुल गांधी, किसान मर रहे हैं, और लगता है पीएम को फर्क ही नहीं पड़ता

नई दिल्ली: नोटबंदी को लेकर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर हमला जारी रखते हुए कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि एक ओर किसान मर रहे हैं, और

दूसरी ओर लगता है कि प्रधानमंत्री को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता है.

संसद परिसर में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा के पास समूचे विपक्ष ने गुरुवार को बांह पर काली पट्टी बांधकर विरोध प्रदर्शित किया, और उसी दौरान पत्रकारों से बात करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि कैशलेस इकोनॉमी के पीछे की इकलौती मंशा कुछ चुनिंदा लोगों को ज़्यादा से ज़्यादा फायदा पहुंचाने की है, और इससे देश को भारी नुकसान हुआ है.

राहुल गांधी ने दावा किया कि कैशलेस इकोनॉमी के नाम पर पेटीएम की बात करना ठीक नहीं है. उन्होंने कहा कि अगर उन्हें लोकसभा में बोलने का मौका मिला, तो वह सभी को बताना चाहेंगे कि पेटीएम का अर्थ है – पे टू मोदी.
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नोटबंदी का फैसला ‘बोल्ड’ नहीं, ‘बेकार’ फैसला है, जिसे लेने से पहले किसी से कोई सलाह-मशविरा नहीं किया गया, और किसी परिणाम के बारे मे सोचा ही नहीं गया.

प्रदर्शन के दौरान राहुल गांधी के साथ कांग्रेस के ही ज्योतिरादित्य सिंधिया तथा जनता दल यूनाइटेड के शरद यादव भी विपक्षी नेताओं के बीच दिखाई दिए.

Courtesy: NDTV

Categories: Politics

Related Articles