सूबे की हर विधानसभा पर भाजपा की ‘वीडियो वैन’

सूबे की हर विधानसभा पर भाजपा की ‘वीडियो वैन’

कानपुर  उत्तर प्रदेश के बेहद उलझे और अहम विधानसभा चुनाव में भाजपा किसी भी तरह की ढील बरतने के मूड में नहीं है। परिवर्तन यात्रा के मार्फत अगर जनता से जुडऩे की कवायद चल रही है तो साथ ही सटीक फीडबैक के लिए प्रोफेशनल टीम भी मैदान में उतार दी है।

भारतीय जनता पार्टी ने हाईटेक वीडियो वैन के रूप में सूबे की हर विधानसभा में पार्टी ने ‘वीडियो वैन’ चुनाव होने तक के लिए लगा दी है। मिशन 2017 के लिए सभी दल अपनी पूरी ताकत के साथ मैदान में उतर चुके हैं। कभी पूरी तरह से कार्यकर्ताओं की मेहनत पर टिके रहने वालों दलों ने अब प्रोफेशनल कंपनियों का सहारा लेना शुरू कर दिया है।

लोकसभा चुनाव में भाजपा के लिए काम करने वाले प्रशांत किशोर इस विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के चुनावी रणनीतिकार हैं, तो भाजपा परिवर्तन संदेश रथ-वीडियो वैन के साथ निजी कंपनियों को काम पर लगाया है। इन वीडियो वैन का प्रत्यक्ष काम तो है भाजपा का चुनाव प्रचार, सभाओं का सीधा प्रसारण। इसके साथ ही एक काम सिर्फ ये वीडियो वैन चला रहीं निजी कंपनियों के जिम्मे है।

प्रदेश में 403 विधानसभाओं के लिए 403 वीडियो वैन उतारी गई हैं। फरवरी में चुनाव संभावित मानते हुए फिलहाल तय हुआ कि यह सभी वैन 90 दिन तक लगातार एक-एक विधानसभा में घूमेंगी। संबंधित दावेदार या प्रत्याशी जो कार्यक्रम आयोजित कराएंगे, उनकी फोटो और वीडियो बनाकर वैन में तैनात टीम अपने मुख्यालय भेजेगी। वहां से हर दिन की रिपोर्ट भाजपा मुख्यालय भेजी जाएगी।

दावेदार के जनाधार का भी होगा आकलन

जिस तरह की व्यवस्था पार्टी ने की है, उससे माना जा रहा है भाजपा टिकट की दावेदारी कर रहे कार्यकर्ताओं का जनाधार भी इसके माध्यम से परख लेगी। हर नुक्कड़ सभा और अन्य गतिविधियों के फोटो और वीडियो इतना इशारा तो कर ही देंगे कि किस दावेदार ने कितनी भीड़ जुटाई और यह भी भांपा जा सकेगा कि भाजपा के लिए कहां क्या माहौल है।

वीडियो वैन की दौड़ की भी रिपोर्ट

वीडियो वैन का काम अलग-अलग कंपनियों को दिया गया है। सौ वैन का जिम्मा नोएडा की कंपनी मैक संभाल रही है। कंपनी के प्रबंध निदेशक अनुज कुमार ने बताया कि वैन कितने बजे रवाना हुई, कहां-कहां रुकी, कितनी गतिविधियां हुईं, किस स्थान पर कितना वक्त लगा। इसकी पूरी रिपोर्ट हर दिन नोएडा ऑफिस भेजी जा रही है। साथ में हर कार्यक्रम में जुटी भीड़ के भी फोटो लिए जा रहे हैं। वहां से पूरी रिपोर्ट भाजपा मुख्यालय को भेज रहे हैं। उन्होंने बताया कि अभी 90 दिन भ्रमण के लिए कहा गया है। यदि चुनाव की तिथि फरवरी से आगे जाती है तो संभव है कि हमारा कार्यक्रम भी बढ़ा दिया जाए।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Politics

Related Articles