दादरी अनाज मंडी में राहुल से किसानो ने कहा, “मोदी के राज में ना खाने को ना नहाने को”

दादरी अनाज मंडी में राहुल से किसानो ने कहा, “मोदी के राज में ना खाने को ना नहाने को”

 

आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने उत्तर प्रदेश के दादरी जिला में यात्रा की और नोटबंदी से हो रही कठिनाइयों का लोगों से जाएज़ा लिया। लोगों ने प्रधानमंत्री के प्रति काफी निराशा जताई और बताया कि कैसे न तो उनके घर में खाने को  पैसा मिल रहा है और न ही घर चलाने के लिए। एक बुज़ुर्ग महिला ने राहुल गाँधी को कहा कि मोदी जी ने पैसा ले तो लिया बैंक में पर अब निकालने जाओ तो वापस नहीं दे रहे, उनके राज में न तो खाने को बचा है न नहाने को।

दादरी की ही एक अनाज मंडी में राहुल ने किसानों को संबोधित भी किया और मोदी सरकार पर हमला तेज़ करते हुए कहा कि मोदी जी को सुनने की आदत नहीं है, वह केवल बोलना जानते है, न तो वह किसानों की सुनते हैं, न गरीबों की और यहाँ तक तो वह अपने मंत्रियों की भी नहीं सुनते।

नोटबंदी को दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला बताते हुए राहुल ने कहा कि सरकार बड़े बड़े उद्ययोगपतियों से लोन का पैसा वापस लेने में सक्षम नही है, इसी कारण से बैंकों के पास लोगों को लोन देने का पैसा नहीं है। पैसों की इसी कमी को पूरा करने के लिए सरकार ने आज गरीबों को बैंकों की कतारों में खड़ा रहने के लिए मजबूर किया है और उनका पैसा फिर से अमीरों को देने की तैयारी में है।  इस घोटाले का अनुमान राहुल ने करीब 8 लाख करोड़ रुपए बताया है।

राहुल ने आगे कहा कि “कर्नाटक में भाजपा का नेता 500 करोड़ की शादी करवाता है। ये पैसा कहां से आया?” प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 50 दिन में समस्या दूर होने के दावे पर राहुल बोले कि “ये 50 दिन में ठीक नहीं होगा। इसका नुकसान हिंदुस्‍तान को सालों के लिए भुगतना पड़ेगा। प्रधानमंत्री कैशलेस सोसायटी की बात कर रहे हैं लेकिन सोसायटी तो पहले ही कैशलेस हो चुकी। मोदी जी कैशलेस तो आपने बना दिया, किसी के पास कैश नही है। पूरी दुनिया रो रही है। जो ईमानदार लोग है उन सब को लाइन में खड़ा कर दिया।“