भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद PAK ने ISI DG को हटाया, मुख्तार बने नए चीफ

भारत के सर्जिकल स्ट्राइक के बाद PAK ने ISI DG को हटाया, मुख्तार बने नए चीफ

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा ने आईएसआई डीजी रिजवान अख्तर को हटा दिया। अख्तर की जगह लेफ्टिनेंट जनरल नवीद मुख्तार को अप्वाइंट किया गया है। भारत की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद ही ये कयास लगाए जा रहे थे कि अख्तर को उनके वक्त से पहले हटाया जा सकता है। बता दें कि 29 सितंबर को पैरा कमांडोज ने एलओसी के पार पीओके में घुसकर आतंकियों के लॉन्चिंग पैड्स पर हमला किया था और 38 आतंकी मार गिराए थे। ISI को नहीं चला था सर्जिकल स्ट्राइक का पता…
पाक अखबार ‘द डॉन’ के मुताबिक, रविवार को आर्मी चीफ बनने के 2 हफ्ते के भीतर ही बाजवा ने बड़ा फैसला लिया है।
भारत की ओर से की गई सर्जिकल स्ट्राइक की भनक तक आईएसआई को नहीं लगी थी। इसी वजह से जनरल अख्तर पर सवाल उठ रहे थे।
अख्तर ने नवंबर 2014 में पद संभाला था। उन्हें 3 साल तक आईएसआई चीफ की पोस्ट पर रहना था।

आर्मी की टॉप पोस्ट पर भी बदलाव
बाजवा ने आर्मी की टॉप पोस्ट पर भी बदलाव किए हैं।
पाक सेना की ओर से जारी बयान के मुताबिक, नवीद मुख्तार को आईएसआई डीजी अप्वाइंट करने के साथ ही रिजवान अख्तर को नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी (एनडीयू) का प्रेसिडेंट बनाया गया है।
वहीं, लेफ्टिनेंट जनरल बिलाल अकबर को चीफ ऑफ जनरल स्टाफ (सीजीएस) बनाया गया है। ले. जनरल नजीर बट को पेशावर में कॉर्प्स कमांडर की पोस्ट पर भेजा गया है।
ले. जनरल हिदायत-उर-रहमान को हेडक्वार्टर में आईजी बनाया गया है।
द डॉन की खबर के मुताबिक, शरीफ सरकार ने आर्मी से कहा था कि या तो आतंकियों के खिलाफ सख्त कदम उठाए या फिर इंटरनेशनल लेवल पर अलग-थलग पड़ने के लिए तैयार रहे।

कौन हैं नवीद मुख्तार?
1983 में मुख्तार ऑर्मर्ड कॉर्प्स रेजीमेंट में कमीशंड हुए थे।
वे क्वेटा के कमांड एंड स्टाफ कॉलेज से ग्रैजुएट हैं। नेशनल डिफेंस यूनिवर्सिटी (इस्लामाबाद) और वॉर कोर्स यूएसए से भी पढ़ाई की है।
मुख्तार मेकैनाइज्ड डिविजन के भी चीफ रह चुके हैं। उन्हें इंटेलिजेंस का काफी एक्सपीरियंस है। वे आईएसआई की काउंटर टेररिज्म विंग के भी चीफ रह चुके हैं।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: International

Related Articles