भाजपा का जमीन खरीद मामला: जेडीयू ने आयकर विभाग में जांच के लिए दिया आवेदन

भाजपा का जमीन खरीद मामला: जेडीयू ने आयकर विभाग में जांच के लिए दिया आवेदन

बिहार समेत कई जगहों पर बीजेपी द्वारा कार्यालय के नाम पर खरीदी गई जमीन की जांच के लिए  जदयू ने आयकर विभाग में आदवेन दिया है। शक्रुवार को आवेदन देने वालों में जदयू के मुख्य प्रवक्ता सह विधान पार्षद संजय सिंह, प्रवक्ता सह विधान पार्षद नीरज कुमार और राजीव रंजन कुमार का नाम शामिल है। इन्होंने इस आवेदन में पार्टी कार्यालय के लिए खरीदी गई जमीन में खर्च होने वाली रकम की जांच की मांग की है।
जेडीयू ने आवेदन के जरिए आरोप लगाया है कि बीजेपी ने पार्टी कार्यालय के नाम पर राज्य में बड़े पैमाने पर करोड़ों की जमीन खरीदी है। उनको आशंका है कि नोटबंदी से ठीक पहले खरीदी गई जमीन में कालेधन का इस्तेमाल किया गया है। इसलिए वह चाहते हैं कि जमीन की खरीदारी में हुई धनराशि की जांच हो। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने 8 नंवबर को 500 और 1000 हजार के नोट बंद किए जाने की घोषणा की थी।
मीडिया में रिपोर्ट सामने आई थी कि नोटबंदी से पहले बीजेपी ने बिहार समेत देश के कई हिस्सों में जमीन खरीदी है। जिसके बाद कांग्रेस, आम आदमी पार्टी और जेडीयू सहित कई राजनीतिक ने दलों बीजेपी पर नोटबंदी से पहले पैसे ठिकाने का आरोप लगाया है। खबर है कि इस न्यूज को सबसे पहले बिहार के ही स्थानीय न्यूज चैनल कशिश न्यूज ने चलाई थी। इस रिपोर्ट में चैनल ने जमीन खरीद के कथित दस्तावेजों को भी साझा किया था।
हालांकि इस जमीन खरीद को लेकर सवाल उठाए जाने के बाद कुछ दिनों पहले बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय ने सफाई देते हुए कहा था जमीन खरीदने के मामले में किसी भी तरह की अनियमितता नहीं हुई है। साथ ही यह भी कहा कि जमीन खरीदने की पूरी प्रक्रिया कानून के अनुसार ही हुई है। इसके अलावा राज्य सरकार इस मामाले की जांच किसी भी एजेंसी से करा सकती है।

Courtesy:jansatta 
Categories: Politics

Related Articles