मैनपुरी में महिला को सरेराह दौड़ाकर पीटा, किशनी इंस्पेक्टर को हटाया

मैनपुरी में महिला को सरेराह दौड़ाकर पीटा, किशनी इंस्पेक्टर को हटाया

मैनपुरी दबंगों ने एक महिला को सरेराह दौड़ा-दौड़ाकर पीटा। किशनी के बाइपास पर दबंग महिला पर लाठियां बरसाते रहे और राहगीर तमाशागीर बने रहे। दबंगों ने महिला को इस कदर पीटा कि उसका सिर फूट गया और कपड़े फट गए। आरोपियों ने पत्नी को बचाने आए पति को नहीं बख्सा। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया। महिला की सरेराह पिटाई का वीडियो वायरल हुआ तो ऊपर से पूछताछ शुरू हो गई। वहीं पीडि़त महिला ने हमलावरों की गिरफ्तारी न होने पर एसपी को आत्महत्या की धमकी दे दी। नतीजतन इंस्पेक्टर को लाइन हाजिर कर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया। बाकी की गिरफ्तारी को पुलिस दबिश दे रही है।

मैनपुरी के शमशेरगंज निवासी अरविंद कुमार की पत्नी वंदना किशनी कस्बे में तिराहे पर किराये के मकान में रहते हैं। उनका कस्बा के ही आनंद यादव से किसी बात को लेकर विवाद है। दोपहर दो बजे महिला अपने पुत्र के साथ लोगों से भूमि विकास बैंक के पास रहने वाले अजय यादव का मकान पूछ रहीं थीं। तभी आनंद यादव ने अपने दो साथियों के साथ वंदना से गाली-गलौज शुरू कर दी। महिला ने विरोध किया तो उन पर लाठी-डंडे से हमला बोल दिया। सरेराह मारपीट होने से मौके पर भीड़ जुट गई, लेकिन किसी ने दबंगों को रोकने का साहस नहीं जुटाया। आनंद और उसके साथियों ने वंदना को बुरी तरह पीटा, उनके फाड़ डाले। पिटाई के दौरान उनका सिर भी फट गया। वंदना के पर्स में रखे दस हजार रुपये छीन लिए। सूचना पर वंदना के पति अर¨वद पहुंचे तो हमलावरों ने उनकी पिटाई कर दी। थानाध्यक्ष लक्ष्मण सिंह ने बताया कि पीड़ित महिला की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया है और आरोपियों की तलाश की जा रही है। देर रात पुलिस ने आरोपी आनंद यादव को गिरफ्तार कर लिया।

पहले एनसीआर फिर छेड़खानी की रिपोर्ट

तीन दिन पहले युवती के साथ मारपीट के मामले में नया मोड़ आ गया है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने एक और मामला दर्ज किया है, जिसमें एक आरोपी पर बुरी नीयत से दबोचने का आरोप लगाया है। पुलिस ने छेड़खानी के आरोप में मामला दर्ज कर लिया है। युवती द्वारा कोतवाली में दी गई तहरीर में दुष्कर्म की कोशिश का उल्लेख नहीं किया गया था। इसलिए पुलिस ने घटना को सिर्फ मारपीट का मामला मानते हुए एनसीआर दर्ज कर ली थी। एनसीआर दर्ज होने के बाद पीड़ित युवती ने पुलिस पर गंभीर आरोप लगाए। युवती का कहना था, उसने पुलिस को घटना की पूरी जानकारी दी थी, लेकिन उसे इस बात की जानकारी नहीं थी कि तहरीर को किस प्रकार लिखा जाए।

पुलिस ने उसकी अज्ञानता का फायदा उठाते हुए अभियुक्तों से सांठ-गांठ कर ली और सिर्फ एनसीआर दर्ज करने के बाद आरोपी ज्ञानसिंह के खिलाफ शांतिभंग की कार्रवाई कर दी है। उक्त मामले की शिकायत आला अधिकारियों से भी की गई। बाद में युवती की तहरीर पर दोनों आरोपियों के विरुद्ध एक और मामला दर्ज किया गया है। युवती ने तहरीर में कहा है, रात को मुकेश ने उसे बुरी नीयत से दबोच लिया था। बाद में मुकेश व ज्ञान ने उसके साथ मारपीट की। पुलिस ने मामला दर्जकर आरोपी ज्ञान को हिरासत में ले लिया। महिला की सरेराह पिटाई पर इंस्पेक्टर पर गाजएसपी सुनील सक्सेना ने बताया कि दोनों आरोपियों की पहचान कुलदीप और अजय यादव निवासी गांव गढ़ी के रूप में हो गयी है। कुलदीप मुख्य आरोपी आनंद का भाई है। आनंद को सोमवार को गिरफ्तार कर लिया था। किशनी थाने पर इंस्पेक्टर मुकेश कुमार की तैनाती कर दी गई है।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Crime