नोटबंदी के बाद से अब तक पता चली 3590 करोड़ की अघोषित संपत्ति, 760 से ज्‍यादा छापे

नोटबंदी के बाद से अब तक पता चली 3590 करोड़ की अघोषित संपत्ति, 760 से ज्‍यादा छापे

कर्नाटक पुलिस ने सोमवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया, दोनों के पास से 2000 रुपए के नए नोटों में 11 .30 लाख की रकम बरामद हुई, जिसका कोई हिसाब उनके पास माैजूद नहीं था। मामले की जांच आयकर विभाग को सौंपी गई है। नोटबंदी के बाद से आयकर विभाग ने 760 से ज्‍यादा छापे मारे हैं और 505 करोड़ रुपए से ज्‍यादा की रकम सीज की गई है। इनमें से 93 करोड़ रुपए से ज्‍यादा नई करंसी में मिले। सूत्रों के अनुसार, अब तक 3590 करोड़ रुपए की अघोषित संपत्ति का पता चला है और 3589 नोटिस जारी किए गए हैं। छापेमारी के दौरान आयकर विभाग ने करीब 400 मामले प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केंद्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो (सीबीआई) को जांच के लिए सौंप दिए। आयकर विभाग ने ईडी को 215 और सीबीआई को 185 मामलों का संदर्भ दिया है। नोटबंदी के बाद से प्रवर्तन निदेशालय कई जगहों पर छापेमारी कर जांच कर रहा है।

नोटबंदी के बाद से जहां देश की ज्‍यादातर आबादी कैश की किल्‍लत से जूझ रही है, गुजरात के नवसारी जिले में अनोखा मामला सामने आया है। यहां के निवासियों ने एक संगीत कार्यक्रम के दौरान लोक गायकों पर 40 लाख रुपए लुटा दिए। एएनआई के मुताबिक, श्री गुर्जर श्रत्रिय कड़ि‍या समाज द्वारा रविवार (25 दिसंबर) को आयोजित कार्यक्रम में लोक गायक फरीदा मीर और मायाबाई अहीर आए थे। कद्रदानों ने 10 और 20 रुपए के नोट दोनों गायकों से खुश होकर लुटाए।

हालांकि आयोजकों का दावा है कि कार्यक्रम के दौरान इकट्ठा किया गया धन सामाजिक कार्यों के लिए प्रयोग किया जाएगा। इससे पहले गुजरात के ही बनासकांठा के पालनपुर में लोक गायक कीर्तिदान गढ़वी पर 2000 रुपए के नए नोट बरसाए गए थे। वह कार्यक्रम मुक्‍तेश्‍वर महादेव मंंदिर ने आयोजित कराया था।

8 नवंबर को पीएम मोदी ने 500 और 1 हजार के नोट को बैन करने की घोषणा की थी। उसके बाद ही 2000 हजार का नया नोट चलन में आया। एक तरफ तो देश कई हिस्सों में लोगों को कैश न मिलने के चलते परेशानी से गुजराना पड़ रहा है। वहीं दूसरी ओर नोट बरामद होने के रोज-रोज ऐसे मामले सामने आ रहे है। जिनमें से ज्यादातर को पकड़ लिया जाता है।

 Courtesy:Jansatta 
Categories: India

Related Articles