अजमेर-सियालदह ट्रेन के 14 डिब्‍बे पटरी से उतरे: जिनकी मौत की खबर चली, वो निकले जिंदा

अजमेर-सियालदह ट्रेन के 14 डिब्‍बे पटरी से उतरे: जिनकी मौत की खबर चली, वो निकले जिंदा

कानपुर.यहां कानपुर देहात के पास बुधवार की सुबह करीब 5.30 बजे अजमेर-सियालदह ट्रेन के 14 डिब्बे पटरी से उतर गए। इसमें 40 से ज्‍यादा लोगों के जख्मी होने की सूचना है, जिन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती कराया गया है। इस बीच डीजीपी ऑफिस से ही खबर आई थी कि हादसे में दो यात्रियों की मौत हो गई है, लेकिन डीजीपी ऑफिस की ही ओर से बाद में कहा गया कि डॉक्टरी जांच में दोनों यात्री जीवित निकले हैं। ट्रेन का गार्ड भी हादसे में जख्मी हुआ है। ट्रेन के 2 डिब्बे नहर में गिर गए। राहत और बचाव कार्य शुरू हो गया है। बता दें कि इससे पहले पुखरायां में 20 नवंबर को हुए हादसे में 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। दिल्ली- हावड़ा रूट बंद…

– यह हादसा कानपुर से करीब 70 किमी दूर रूला इलाके में हुआ। हादसे की वजह से दिल्ली- हावड़ा रूट बंद हो गया है।
– कानपुर के एसपी ने बताया कि रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। अब तक करीब 40 लोगों को नजदीक के हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है।
– इसमें 8 की हालत गंभीर है। बाकी कई लोगों को मामूली चोट आई हैं। लोगों को प्रशासन उनके घरों तक भिजवा रहा है।

– कानपुर, इटावा, इलाहाबाद से दुर्घटना राहत ट्रेन को रवाना कर दिया गया है।

6 से लेकर 20 तक के डिब्‍बे पटरी से उतरे

– रेलवे के पीआरओ अनिल सक्सेना ने बताया कि आपात सेवा के लिए एंबुलेंस मौके पर हैं। मेडिकल ट्रेन भी मौके पर पहुंच गई है।

– डॉक्टर और अन्य राहत एजेंसियां भी घटनास्थल पर पहुंच चुके हैं। उन्होंने बताया कि इसके बारे में जानकारी फेसबुक और ट्विटर के जरिए भी दी जा रही है।

– सक्सेना ने आगे बताया कि छठे से लेकर 20वां डिब्बा यानी 15 डिब्बे पटरी से उतरे हैं। ट्रेन का आधा पोरशन स्‍टेशन पर था, आधा स्‍टेशन से बाहर था।

– कानपुर देहात के डीएम कुमार रविकांत सिंह ने कहा कि सभी घायलों का इलाज किया जा रहा है।

सुरेश प्रभु का ट्वीट- हालात पर मेरी नजर

– रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने ट्वीट कर बताया, ‘मैं व्यक्तिगत रूप से हालात पर नजर रखे हुए हूं। सीनियर अफसरों को घटनास्थल पर तत्काल पहुंचने का निर्देश दिया है।’

– ‘घायलों को तत्काल चिकित्सा मदद दी जा रही है। घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच की जाएगी।’

रेलवे ने जारी किए हेल्पलाइन नंबर-

कानपुर रेल हादसे को लेकर रेलवे ने कई हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं-

कानपुर- 0512-2323015, 2323016, 2323018
इलाहाबाद- 05322408149, 2408128, 2407353
टूंडला- 05612-220338, 220339
अलीगढ़- 0571-2404056,2404055

क्‍या कहना है डीआरएम का?

– डीआरएम संजय कुमार पंकज ने बताया कि कमीशन को पावर है कि वो अपनी जांच की रिपोर्ट बताए। हम देख रहे हैं कि कैसे इसे रिस्‍टोर करना है। वीडियो, फोटोग्राफी कर ली गई है। साइट के एविडेंसेंज को इकट्ठा कर लिया गया है।

– इस रूट पर काफी ज्‍यादा बर्डन है, इस पर कोई संदेह नहीं है। लेकिन मेन्‍टेनेंस की जो भी रिक्‍वॉयरमेंट है, उसे हम लगातार पूरी करने की कोशिश करते हैं। ऐसे में ये कहना कि मेन्‍टेनेंस नहीं हुआ, ये कहना बहुत प्रिमैच्‍योर होगा।

– अभी जो रिपोर्ट है, उसमें पटरियों का टूटना या ट्रेनों की अनकपलिंग या दाेनों हो सकता है। 24 घंटे तक दिल्‍ली-हावड़ा रूट के बाधित रहने की संभावना है।

– फिलहाल 60 लोग घायल हैं, जिनमें 46 को कानपुर देहात के माती जिला अस्‍पताल और 14 को कानपुर के हैलट अस्‍पताल में पहुंचाया गया।

क्‍या कहना है डीएम का?

– डीएम डॉ. कौशल राज शर्मा ने बताया कि कानपुर देहात में एंबुलेंस सेवा मुहैय्या करवा दी गई है। जो लोग मामूली रूप से घायल हैं, उनका वहीं पर इलाज किया जा रहा है।

– हैलट अस्पताल में एक 7 साल की बच्ची पहुंची है, जिसकी हालात काफी गंभीर है। उसका ऑपरेशन किया जाएगा। बाकी घायलों के भी इलाज की व्यवस्था की गई है।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: Regional