UP Election 2017: भाजपा चाहे यूपी जीतना और सपा चाहे रोकनाः आजम

UP Election 2017: भाजपा चाहे यूपी जीतना और सपा चाहे रोकनाः आजम

रामपुर  उत्तर प्रदेश के नगर विकास मंत्री आजम खान ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और बादशाह (पीएम) हमसे बहुत नाराज हैं। वह हर कीमत पर उत्तर प्रदेश जीतना चाहते हैं और हम हर कीमत पर उन्हें रोकना चाहते हैं। सपा की कलह पर कहा कि कहाँ कोई झगड़ा है ? मुलायम तो अखिलेश को अपना बेटा कहते हैं और वह सीएम है। आजम खां ने कहा कि हमारे घर में जो कुछ हो रहा है, उस पर पूरी दुनिया की निगाहें हैं। हम हर तरह का रास्ता निकालने में जुटे हैं। पूरी कोशिश है कि मामला निपट जाए, लेकिन एक फीसद नहीं निपटा तो वही फैसला लेंगे जो अवाम के हक में होगा।

सीएम में खटास जैसी कोई बात नहीं

आजम ने चुनावी तैयारी के लिए कार्यकर्ताओं की बैठक में यह बात कही। दावा किया कि हम फिर से सरकार बनाएंगे। पार्टी में चल रहे घमासान को शांत करने की हमारी कोशिशों को बड़े-बड़े नेताओं ने सराहा है। नेताजी और मुख्यमंत्री में खटास जैसी कोई बात नहीं है। मुलायम खुद कहते हैं कि अखिलेश हमारा बेटा है और वह सीएम है, तो फिर रिश्तों में खटास कहां है। सपा में कलह दूर करने पर आजम खूब बोलते रहे लेकिन यह साफ नहीं किया कि वह सीएम अखिलेश के पक्षधर हैं या मुलायम सिंह की ओर।

नोटबंदी से रोज नौ हजार करोड़ का घाटा

आजम ने नोटबंदी के फैसले की आलोचना की और कहा कि नोटबंदी से सरकार को हर रोज नौ हजार करोड़ रुपये का घाटा हो रहा है। जौहर यूनिवर्सिटी में साढ़े चार हजार मजदूर काम कर रहे थे, लेकिन जब से नोटबंदी हुई है साढ़े चार सौ मजदूर भी नहीं बचे हैं। बादशाह और अमित शाह हमसे बहुत नाराज हैं। वे हर कीमत पर प्रदेश में चुनाव जीतना चाहते हैं, लेकिन हम ऐसा होने नहीं देंगे। हमारी कोशिश है कि हर गरीब के पास छत हो, रोजगार हो। हमने मकान बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। हमारी सियासत कमजोरों के लिए है। हम हर दरवाजे पर कलम पहुंचाना चाहते हैं, इसीलिए तो बीजेपी और आरएसएस हमसे नाराज रहते हैं। उन्होंने कहा कि हम जो भी फैसला लेंगे उत्तर प्रदेश के कमजोर लोगों के हक़ में लेंगे। उन्होंने आचार संहिता के नाम पर हो रही कार्रवाई पर भी नाराजगी जताई।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Politics