ATM से हर दिन पैसा निकालने की लिमिट 4500 रुपए से बढ़कर 10 हजार रुपए हुई

ATM से हर दिन पैसा निकालने की लिमिट 4500 रुपए से बढ़कर 10 हजार रुपए हुई

नई दिल्ली.RBI ने ATM से हर दिन पैसा निकालने की लिमिट 4500 रुपए से बढ़ाकर 10 हजार रुपए करने का फैसला किया है। RBI की तरफ से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक, करंट अकाउंट्स से एक हफ्ते में पैसा निकालने की लिमिट भी 50 हजार रुपए से बढ़ाकर एक लाख रुपए कर दी गई है। हालांकि, नॉर्मल अकाउंट्स से एक हफ्ते में 24 हजार रुपए निकालने की लिमिट बरकरार है। बता दें कि शुरुआत में एटीएम से एक दिन में पैसा निकालने की लिमिट ढाई हजार रुपए थी। इसे नोटबंदी का पहला फेज पूरा होने के बाद बढ़ाकर 4500 रुपए किया गया था। पहले कितनी थी पैसा निकालने की लिमिट…

ATM से विदड्रॉअल की लिमिट कितनी बढ़ी?

पहले:एटीएम से 2000 रुपए निकाल सकते थे। बाद में, अपने बैंक के एटीएम से 2500 रुपए निकालने की इजाजत मिली। नोटबंदी के 50 दिन बाद यह लिमिट बढ़ाकर 4500 रुपए कर दी गई।
अब:एटीएम से एक व्यक्ति एक कार्ड का इस्तेमाल कर एक दिन में 10 हजार रुपए निकाल सकेगा। कैश लॉजिस्टिक्स एसोसिएशन के प्रेसिडेंट ऋतुराज सिन्हा ने बताया कि एटीएम से कैश सप्लाई नॉर्मल है। हर दिन देशभर के 2 लाख एटीएम में 8000 करोड़ रुपए फिट किए जा रहे हैं ताकि लोगों को आसानी से विदड्रॉअल कर सकें।

बैंक से कितनी रकम निकाली जा सकती है?

पहले :बैंक के काउंटर से हफ्ते में 10 हजार रुपए निकालने की लिमिट थी। फिर 24 हजार की लिमिट तय की गई। करंट अकाउंट के लिए यह लिमिट बढ़ाकर 50 हजार रुपए की गई थी।
अब :करंट अकाउंट्स से एक हफ्ते में पैसा निकालने की लिमिट 50 हजार रुपए से बढ़ाकर एक लाख रुपए कर दी गई है। लेकिन एक हफ्ते में 24 हजार रुपए निकालने की लिमिट कायम है। शादी जैसी स्थिति में परिवार के किसी एक मेंबर के खाते से 2.5 लाख निकाले जा सकते हैं, लेकिन कई शर्तों के साथ।

बैंकों ने कस्टमर्स से मांगे PAN डिटेल्स
– इस बीच, बैंकों ने इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के निर्देशों पर कस्टमर्स से PAN डिटेल्स मांगने शुरू कर दिए हैं।
– एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक, बैंकों ने KYC अपडेटेड कस्टमर्स सहित सभी तरह के अकाउंट होल्डर्स से कहा है कि वे 28 फरवरी तक PAN डिटेल्स अपडेट कर दें।
– पब्लिक सेक्टर की बैंकों की तरफ से इस बारे में कस्टमर्स को लेटर भेजे जा रहे हैं।

– इसके पीछे बैंकों ने यह दलील दी है कि जिन अकाउंट्स में ये डिटेल्स अपडेट नहीं हैं, इनकम टैक्स डिपार्टमेंट उन्हें फ्रीज कर रहा है।

कस्टमर्स को क्या करना होगा?
– बैंक ऑफ इंडिया की ओर से कस्टमर्स को भेजे लेटर के मुताबिक, अकाउंट होल्डर्स को उनके पैन कार्ड की स्कैन की हुई कॉपी पर साइन करके उसे अपनी ब्रांच में देना होगा।
– जिन लोगों के पास पैन कार्ड नहीं है, वे फॉर्म-60 का इस्तेमाल कर सकते हैं।
– पैन डिटेल्स उन्हें भी देने हैं, जिन्होंने अपना अकाउंट पहले से KYC अपडेट करा रखा है।

किन पर लागू नहीं होगा नियम?
– बेसिक सेविंग्स बैंक डिपॉजिट अकाउंट्स के लिए ये नियम लागू नहीं होगा। ये वो अकाउंट हैं, जिनमें जीरो बैलेंस रखा जा सकता है। जनधन खाने भी इसके दायरे में आते हैं।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: India

Related Articles