अमिताभ बच्चन ने अपने सह-कलाकारों को कभी नहीं दिया काम का क्रेडिटः ऋषि कपूर

अमिताभ बच्चन ने अपने सह-कलाकारों को कभी नहीं दिया काम का क्रेडिटः ऋषि कपूर

नई दिल्ली: अपनी बायोग्राफी ‘खुल्लम खुल्लाः ऋषि कपूर अनसेंसर्ड’ में ऋषि कपूर ने अपने समय के अभिनेताओं को लेकर भी कई खुलासे किए हैं. इस किताब में उन्होंने सदी के महानायक अमिताभ बच्चन के बारे में कहा है कि उन्होंने कभी अपने सह-कलाकारों को उनके काम का क्रेडिट नहीं दिया. ऋषि ने अपनी बायोग्राफी में यह भी लिखा है कि वह एक्शन के जमाने में रोमांटिक हीरो थे, जबकि अमिताभ एक्शन के जमाने में एक एक्शन हीरो थे इसलिए ज्यादातर फिल्में उनके लिए ही लिखी जाती थीं.

ऋषि कपूर ने अपनी किताब में स्वीकार किया है कि उन्हें अमिताभ बच्चन से शुरू से ही कुछ समस्याएं थीं. उनके अनुसार उस जमाने में ज्यादातर एक्शन फिल्में लिखी जाती थीं जिसका उन्हें काफी नुकसान होता था क्योंकि वह रोमांटिक हीरो थे. ऋषि ने लिखा कि मल्टीस्टारर फिल्मों में उस अभिनेता को अच्छे रोल मिलते थे जो एक्शन अच्छी तरह कर सकता था. इस वजह से निर्देशक और लेखक सबसे मजबूत और महत्वपूर्ण किरदार अमिताभ बच्चन के लिए सुरक्षित रखते थे. उन्होंने लिखा कि इसका शिकार केवल वह नहीं शशि कपूर, शत्रुघ्न सिन्हा, धर्मेंद्र और विनोद खन्ना भी हुए.

ऋषि ने अपनी किताब में लिखा, ‘बेशक अमिताभ बच्चन एक बेहतरीन अभिनेता हैं, प्रतिभावान और उस जमाने में वह बॉक्स ऑफिस पर राज करते थे. वह एक एक्शन हीरो थे, एंग्री यंग मैन. इसलिए सारे किरदार उनके लिए लिखे जाते थे. हालांकि हम छोटे स्टार थे लेकिन छोटे कलाकार नहीं थे. लेकिन फिर भी हम सभी पर हमेशा उनके स्तर को छूने का दबाव होता था. हमें बहुत मेहनत करनी पड़ती थी. मेरे समय में रोमांटिक हीरो के लिए कोई जगह नहीं थी. अमिताभ एक्शन फिल्मों के जमाने में एक एक्शन हीरो थे. इसका उन्हें बेहद फायदा मिला और हमें जो भी मिला उससे हमें अपनी पहचान बनानी पड़ी.’

लेकिन अमिताभ ने कभी अपने सह-कलाकारों को उनके काम का क्रेडिट नहीं दिया. उन्होंने हमेशा लेखकों और निर्देशकों को श्रेय दिया. लेकिन यह भी सच है कि उनकी सफलता में उनके सह-कलाकारों का भी उतना ही योगदान है. ‘दीवार’ में शशि कपूर, ‘अमर अकबर एंथोनी’ और ‘कूली’ में ऋषि कपूर या विनोद खन्ना, शत्रुघन सिन्हा और धर्मेंद्र, अमिताभ की फिल्मों की सफलता में इन सभी का योगदान रहा है. भले ही वे छोटे किरदारों क्यों न रहे हों.’

बुक लॉन्च के मौके पर लेखक सुहेल सेठ से बातचीत में ऋषि ने कहा, ‘अमिताभ भच्चन की सफलता की सीढ़ी में हम सभी छोटे पायदान पर थे क्योंकि सभी मुख्य भूमिकाएं उन्हें मिलती थीं. वे अच्छे दिन थे, आज कहां हमें अक्षय कुमार और सभी खान एक-दूसरे के साथ काम करते हुए मिलते हैं क्योंकि यह आर्थिक रूप से संभव नहीं है. आज के समय में आप दो बड़े अभिनेताओं का खर्च वहन नहीं कर सकते. उनकी फीस काफी ज्यादा है.’

Courtesy:NDTV

 

Categories: Entertainment