वोटर्स का मन टटोल रहा है अखिलेश का कॉल सेंटर, गांव-गांव जाकर 700 लोगों की टीम कर रही काम

वोटर्स का मन टटोल रहा है अखिलेश का कॉल सेंटर, गांव-गांव जाकर 700 लोगों की टीम कर रही काम

लखनऊ. यूपी में दोबारा सत्तासीन होने का कोई मौका अखिलेश छोड़ना नहीं चाह रहे हैं। इसलिए हर वो उपाय इस्तेमाल कर रहे हैं जो जीत तय कर सके। ऐसी ही एक कवायद है अखिलेश की लोकप्रियता जानने के लिए लखनऊ में बनाया गया कॉल सेंटर।

मीडिया हाउस के प्रतिनिधि बन कर बातकर रहे कॉलर्स
– यहां से कॉलर्स फोन करके ये जानने की कोशिश करते हैं कि लोग अखिलेश के खिलाफ तो नहीं हैं। और अगर पक्ष में हैं तो उनकी क्या अपेक्षाएं हैं।
– इन कॉलर्स को निर्देश दिए गए हैं कि वो किसी को भी परिचय देते समय ये न बताएं कि वे लखनऊ स्थित सीएम के कॉल सेंटर से कॉल कर रहे हैं।
– बल्कि लोगों से चुनावी सर्वे के रूप में बात की जाती है। साथी ही यह भी बताया जाता है कि वे दिल्ली स्थित किसी मीडिया हाउस के प्रतिनिधि हैं।

कॉल सेंटर में करीब 70 कॉलर्स मौजूद
– सीएम के इस कॉल सेंटर में करीब 70 लड़के-लड़कियां मौजूद हैं, ये दो सिफ्ट में काम कर रही हैं। अखिलेश ने अपने इस कॉलसेंटर का कुछ दिन पहले ही उद्घाटन किया था।
– ये कॉलर्स खास तौर से ग्रामीण मतदाताओं को कॉल करतीं हैं। जिनसे वे अखिलेश सरकार की योजनाओं के बारे में जानकारी साझा करती हैं। साथ ही इन योजनाओं में आने वाली दिक्‍कतों के बारे में भी जानकारी लेती हैं।

700 लोगों की टीम गांवों का कर रही दौरा
– इसके बाद जिन बातों से अखिलेश खेमे को परेशानी हो सकती है उनकी जानकारी फील्ड में काम कर रहे 700 लोगों के समूह को दे दी जाती है।
– इसके बाद ये 700 लोगों की टीम उन इलाकों का दौरा कर लोगों का झुकाव अखिलेश यादव की ओर करने की कोशिश करते हैं।
– अखिलेश यादव के लिए ये रणनीति हार्वर्ड यूनिवर्सिटी के कैनेडी स्कूल ऑफ गवर्नेंस में लेक्चरर स्टीव जार्डिंग ने तैयार की है।
– जार्डिंग के स्टूडेंट अद्वैत विक्रम सिंह ने ही उनका परिचय अगस्त में अखिलेश से करवाया था, और तभी से वो मुख्यमंत्री के लिए रणनीति तैयार करने में मदद कर रहे हैं।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: Politics

Related Articles