गठबंधन के बाद अब मंच भी साझा कर सकते हैं राहुल-अखिलेश, 6 रैलियों का प्रस्ताव

गठबंधन के बाद अब मंच भी साझा कर सकते हैं राहुल-अखिलेश, 6 रैलियों का प्रस्ताव

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस के बीच हुए गठबंधन के बाद अब सीएम अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की रैलियों की तैयारियां शुरू हो गई हैं.

सूत्रों के मुताबिक, यूपी के छह अलग-अलग जोन में राहुल और अखिलेश की संयुक्त रैली का प्रस्ताव दिया गया है. इसके साथ ही कांग्रेस और सपा के बीच गठबंधन को बनाने में कर्णधार रहीं प्रियंका गांधी वाड्रा और सीएम अखिलेश की पत्नी एवं कन्नौज से सांसद डिंपल यादव की संयुक्त रैली का प्रस्ताव भेजा है.

हालांकि सूत्रों ने साथ ही बताया कि इस बारे में अभी फैसला नहीं हो पाया है. कांग्रेस पहले अमेठी और रायबरेली की सीटों को लेकर फैसला होने के बाद इस बाबत ऐलान करेगी.

दरअसल यूपी विधानसभा चुनावों के लिए कांग्रेस और सपा के बीच काफी खींचतान के बीच रविवार को गठबंधन का ऐलान हुआ. इसके तहत राज्य की कुल 403 विधानसभा सीटों में से 298 पर अखिलेश के कैंडिडेट्स चुनाव लड़ेंगे, जबकि कांग्रेस को 105 सीटें मिली है. हालांकि यहां अमेठी और रायबरेली सीट को लेकर पेंच अब भी फंसा हुआ है. अमेठी सीट से समाजवादी पार्टी ने गायत्री प्रसाद प्रजापति को टिकट दे दिया है. मगर इसी अमेठी से कांग्रेस सांसद संजय सिंह की पत्नी और नेहरू-गांधी परिवार की बेहद करीबी अमिता सिंह दावा ठोंक रही हैं. वहीं रायबरेली भी गांधी परिवार का गढ़ रहा है, जहां से वह अपने उम्मीदवार खड़े चाहती है.

Courtesy: Aajtak

Categories: India

Related Articles