ABP सर्वे: यूपी में एसपी- कांग्रेस गठबंधन बहुमत के करीब, बीजेपी दूसरे और मायावती तीसरे नंबर पर

ABP सर्वे: यूपी में एसपी- कांग्रेस गठबंधन बहुमत के करीब, बीजेपी दूसरे और मायावती तीसरे नंबर पर

नई दिल्ली: यूपी में एबीपी न्यूज-लोकनीति-सीएसडीएस ने सर्वे किया है. सर्वे के मुताबिक एसपी और कांग्रेस गठबंधन सबसे मजबूत हैं. गठबंधन का फैसला अखिलेश को सुल्तान बना रहा है.

समाजवादी पार्टी के झगड़े के बाद अखिलेश यादव सुप्रीम बनकर उभरे और उन्होंने कांग्रेस से गठबंधन किया है. अब टक्कर में समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन, बीजेपी और बीएसपी हैं.

अखिलेश यादव सीएम की पहली पंसद

ओपिनियन पोल में सीएम अखिलेश यादव की लोकप्रियता में दो फीसदी की गिरावट आई है. दिसंबर में 28 फीसदी की पसंद अखिलेश थे लेकिन जनवरी में इसी सवाल पर अखिलेश 26 फीसदी वोटरों की पसंद बने.

लोग किससे ज्यादा संतुष्ट हैं?

सर्वे की मानें तो प्रधानमंत्री के रूप में मोदी और मुख्यमंत्री के रूप में अखिलेश से संतुष्ट लोगों की प्रतिशत समान है.

एसपीकांग्रेस गठबंधन से फायदा किसको?

इस सवाल पर करीब 43 प्रतिशत लोगों ने इस पर अपनी कोई राय ही नहीं दी. लेकिन 37 प्रतिशत लोगों ने एसपी को फायदा बताया.

किस इलाके में किसका दबदबा?
सर्वे के मुताबिक, एसपी-कांग्रेस गठबंधन के बाद सपा गठबंधन के वोट प्रतिशत में इजाफा हुआ है. पुर्वांचल की 142 सीटों की बात करें तो एसपी गठबंधन को 33 प्रतिशत, बीजेपी गठबंधन को 27 प्रतिशत, बीएसपी को 22 प्रतिशत और अन्य दलों को 18 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिलने की संभावना है.

रोहिलखंड और पश्चिम यूपी की 96 सीटों में एसपी गठबंधन को 37 प्रतिशत, बीजेपी गठबंधन को 30 प्रतिशत, बीएसपी को 18 प्रतिशत लोगों और अन्य दलों को 15 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिल सकता है.

दोआब-बुंदेलखंड की 92 सीटों में भी सपा गठबंधन आगे दिख रहा है. सर्वे की माने तो एसपी गठबंधन को 34 प्रतिशत, बीजेपी को 27 प्रतिशत तो बीएसपी को 29 प्रतिशत और अन्य दलों को 10 प्रतिशत लोगों का समर्थन मिल रहा है. अवध की 73 सीटों में भी एसपी गठबंधन सबसे आगे है लेकिन बीजेपी से कड़ी टक्कर है. एसपी गठबंधन को 38 प्रतिशत, बीजेपी को 35 प्रतिशत, बीएसपी को 27 प्रतिशत और अन्य को एक प्रतिशत समर्थन मिलने की संभावना है.

युवाओं के बीच लोकप्रिय कौन?
सर्वे के मुताबिक, 18 से 25 वर्ष के युवाओं के बीच एसपी गठबंधन सर्वाधिक लोकप्रिय है. युवा एसपी गठबंधन को 38 प्रतिशत, बीजेपी गठबंधन को 31 प्रतिशत तो बीएसपी को 23 प्रतिशत पसंद कर रहे हैं. 26 से 45 वर्ष के लोगों के बीच भी एसपी गठबंधन सर्वाधिक लोकप्रिय है. एसपी गठबंधन को 33 प्रतिशत, बीजेपी गठबंधन को 28 प्रतिशत तो बीएसपी को 23 प्रतिशत पसंद कर रहे हैं.

गांव और शहर में किसको मिल रही है बढ़त?
सर्वे की माने तो यूपी के गांव की 308 सीटों पर भी एसपी गठबंधन को बढ़त हासिल है. करीब 35 प्रतिशत लोग एसपी गठबंधन के हिस्से जा रहे हैं. 27 प्रतिशत बीजेपी को अपना समर्थन जता रहे हैं. 24 प्रतिशत लोग बीएसपी पर अपना भरोसा जता रहे हैं.

शहरों में एसपी गठबंधन को टक्कर

शहरों में एसपी गठबंधन को बीजेपी गठबंधन की तरफ से जोरदार टक्कर मिल रही है. शहरों में एसपी गठबंधन को 35 प्रतिशत तो बीजेपी गठबंधन को भी 35 प्रतिशत समर्थन मिलने की संभावना है. बीएसपी को यहां नुकसान हो रही है. बीएसपी को महज 19 प्रतिशत समर्थन मिलता दिख रहा है.

किस दल को किस समुदाय का समर्थन ?
सर्वे के मुताबिक बीजेपी को सवर्णों का पूरा समर्थन मिल रहा है. एसपी गठबंधन को यादव और मुस्लिम का भरपूर समर्थन प्राप्त है. दलितों में बीएसपी का क्रेज बरकरार है.

किस दल को कितना वोट शेयर?
सर्वे के मुताबिक एसपी गठबंधन को 35 प्रतिशत, बीजेपी गठबंधन को 29 प्रतिशत, बीएसपी को 23 प्रतिशत और अन्य दलों को 13 लोगों का समर्थन मिल रहा है.

किस दल को कितनी सीटें?
राजीव करंदीकर देश के सबसे बड़े गणित संस्थान चेन्नई गणितीय संस्थान के निदेशक हैं. राजीव करंदीकर के मुताबिक एसपी गठबंधन को 187 से 197 सीटें मिलने की संभावना है. बीजेपी गठबंधन को 118 से 128 सीटें तो बीएसपी के हिस्से 76 से 86 सीटें मिलने की संभावना जताई जा रही है. अन्य को 5 से 9 सीट मिल सकती है.

कैसे हुआ सर्वे?

एबीपी न्यूज-लोकनीति-सीएसडीएस ने 17 से 23 जनवरी के बीच यूपी के लोगों की राय ली. एबीपी न्यूज और लोकनीति-सीएसडीएस ने यूपी की 65 विधानसभा क्षेत्रों के 6 हजार 481 लोगों से बात की. यह सर्वे यूरोपियन सोसाइटी फॉर ओपिनियन एंड मार्केटिंग रिसर्च यानी ESOMAR के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए किया गया.

Courtesy: ABP News