भावुक अखिलेश बोले, जब अपनों ने छोड़ा तो कांग्रेस ने साथ दिया

भावुक अखिलेश बोले, जब अपनों ने छोड़ा तो कांग्रेस ने साथ दिया

एटा परिवार में कलह का दर्द खूब छलका तो सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव भावुक हो गए। बोले, कोई कितना भी कहे लेकिन मैं जानता हूं कि मुझे अपनों ने छोड़ दिया। मुझे जब अपनों ने छोड़ा तो कांग्रेस ने मेरा साथ दिया। ऐसी परिस्थितियां पैदा कर दीं कि मुझे लगा साइकिल तो चली गई। ऊपर वाले का शुक्र हुआ कि यह बच गई। विधानसभा चुनाव के मद्देनजर पिता की चुनावी जमीन रही मारहरा में मुख्यमंत्री की मंगलवार शाम जनसभा से पहले अफवाह फैल गई थी कि चाचा शिवपाल ग्यारह मार्च के बाद नई पार्टी बनाएंगे। ऐसे में सब निगाहें उन पर थीं।

माजरा समझ सीएम ने कहा कि मैंने अपनों को नहीं छोड़ा, पर दुख है कि मेरे साथ छल हुआ। कुछ भी छिपाना नहीं चाहता, न किसी से कुछ छिपा है। इशारों में उन चेहरों को सामने लाने की कोशिश की, जो दिल में टीस बनकर चुभ रहे हैं। बोले ,लोग मुझे छोड़कर चले गए, लेकिन मैंने हिम्मत नहीं हारी। मैंने जो कुछ किया वह सब आम जनता के लिए किया। अगर साइकिल छिन जाती तो हमें प्रधानी के चुनाव की तरह चुनाव आयोग कोई दूसरा चिह्न थमा देता। अब आप बताएं कि मैंने साइकिल बचा ली तो क्या गलत किया।

Courtesy: Jagran.com

Related Articles