मीरजापुर में ट्रेन पलटने का प्रयास, सेना की वर्दी के साथ एक गिरफ्तार

मीरजापुर में ट्रेन पलटने का प्रयास, सेना की वर्दी के साथ एक गिरफ्तार

मीरजापुर देश के सबसे व्यस्त रेलवे ट्रैक दिल्ली-हावड़ा रेल मार्ग पर ट्रेन पलटने की साजिश जारी है। अलीगढ़ में तीन दिन पहले रेलवे ट्रैक से स्लीपर निकालने का प्रयास किया गया तो आज मीरजापुर में ट्रैक पर सीमेंट का पोल रखा गया। इस मामले में पुलिस ने एक युवक को गिरफ्तार किया है। युवक सेना की वर्दी पहने था।

मीरजापुर में दिल्ली-हावड़ा रेल प्रखंड पर चुनार-कैलहट स्टेशन के बीच बरेवां ग्राम के पास खंभा नंबर 697-20 डाउन लाइन पर आज सुबह तकरीबन नौ बजे रखे एक सीमेंटेड पोल से टकराने के बाद मालगाड़ी दुर्घटनाग्रस्त होने से बाल-बाल बच गई। चालक ने वाकी-टाकी से घटना की सूचना चुनार के स्टेशन मास्टर को दी। मौके पर पहुंचे रेलवे सुरक्षा बल के जवानों ने चुनार कोतवाली के भरेहठा ग्राम निवासी एक युवक को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस उससे पूछताछ कर रही है। पोल रखने के साथ-साथ दोनों लाइनों के बीच कटीलें तार रख सिग्नल फेल करने का भी प्रयास किया गया था।

 

अनाज से भरी वर्धमान स्पेशल मालगाड़ी को इलाहाबाद से चालक गुलाबचंद लेकर चला। चुनार के बाद जैसे ही मालगाड़ी बरेंवां गांव के पास पहुंची ट्रैक पर रखे पोल को देख चालक ने इमरजेंसी ब्रेक लगा कर गाड़ी रोकने का प्रयास किया बावजूद इसके इंजन ट्रैक पर रखे सीमेंटेड पोल से जा टकाराया। रफ्तार काफी धीमी हो जाने के कारण मालगाड़ी पलटने से बाल-बाल बच गई।

चालक ने गाड़ी सही सलामत रेल लाइन पर पाकर चैन की सांस लेते हुए सूचना समीपस्थ रेलवे स्टेशन कैलहट पहुंच कर वहां ड्यूटी पर तैनात स्टेशन अधीक्षक छांगुर राम को दी। घटना के संबंध में स्टेशन अधीक्षक कैलहट ने तत्काल चुनार स्टेशन पर तैनात स्टेशन अधीक्षक सहित इसकी सूचना इलाहाबाद के आला अधिकारियों को दी। मालगाड़ी पलटने के प्रयास की सूचना पर चुनार स्टेशन पर तैनात आरपीएफ, पीडब्ल्यूआई, टेलीफोन, लोको एवं सिग्नल विभागों में अफरा तफरी मच गई। सभी विभागों के आला अधिकारी अपने विभागों की टीम के साथ मौके पर पहुंच गए।

इसके कारण नई-दिल्ली हावड़ा रूट पर करीब दो घंटे तक ट्रेनों का परिचालन बंद रहा। जब वरिष्ठ खंड अभियंता चुनार रामजनम राम ने ट्रैक की फिटनेस की रिपोर्ट दी तब जाकर तकरीबन 11 बजे ट्रेनों का परिचालन शुरू हुआ। मौके पर आरपीएफ के प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार दुबे के नेतृत्व में पहुंची टीम ने ने कैलहट स्टेशन के पास से सेना की वर्दी पहने भरेहटा ग्राम निवासी राजकिशोर सिंह को गिरफ्तार कर लिया। कड़ाई से पूछ ताछ करने पर उसने बताया कि उसका कुछ खेत लाइन के उस पार है गांव में आने जाने के लिए उसने कई बार रास्ते की मांग की लेकिन कुछ नतीजा नहीं निकला। मजबूरन उसने लाइन पर पत्थर रखकर रेल पलटाने के इरादे से ऐसा कार्य किया।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Crime