हनी ट्रैप से पाक जासूस आया लपेटे में

हनी ट्रैप से पाक जासूस आया लपेटे में

मध्य प्रदेश में पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई के जासूसी नेटवर्क को तोड़ने में आर्मी के इंटेलीजेंस ने अहम भूमिका निभाई थी। आर्मी अफसर की निगरानी में ही एटीएस ने ऑपरेशन को अंजाम दिया। आर्मी इंटेलीजेंस और चार इमली स्थित सेंट्रल इंटेलीजेंस पिछले दो महीनों से लगातार एक दूसरे के संपर्क में थीं।
आईएसआई के जासूसी नेटवर्क का खुलासा होने के दूसरे दिन आर्मी चीफ विपिन रावत सुबह आठ बजे के करीब भोपाल पहुंचे। उन्होंने थ्री इएमइ सेंटर में आइएसआइ जासूसी खुलासे की विस्तार से जानकारी ली और उसके बाद वह दोपहर को वापस दिल्ली रवाना हो गए थे। उनके जाने के एक घंटे बाद आर्मी अफसर पीएम हरीज भी पौने चार बजे दिल्ली रवाना हो गए।

एटीएस सूत्रों की मानें तो आईएसआई ने ध्रुव सक्सेना को इस नेटवर्क में शामिल करने के लिए पैसे के साथ हनी ट्रैप (लड़कियों) का इस्तेमाल भी किया। अशिया नाम की एक युवती का नाम भी सामने आया है। पड़ोसियों ने इस बात की पुष्टि की है कि वह धु्रव के साथ कुछ दिनों से देखी जा रही थी। उसके भी गिरफ्तार होने की बात सामने आई है। ध्रुव सक्सेना को भोपाल में आईएसआई जासूसी नेटवर्क का मास्टर माइंड बताया जा रहा है।

छतरपुर से भोपाल आने के बाद वह एक कॉल सेंटर चलाता था। सतना से मप्र एटीएस के हाथ लगे बलराम के एक रिश्तेदार की मुलाकात ध्रुव से हुई थी। ध्रुव ने भोपाल में एक्सचेंज खड़ा करने में अहम भूमिका निभाई थी। उसने एक्सचेंज के टेक्निकल सपोर्ट के लिए मोहित अग्रवाल को शामिल किया। पुलिस सूत्रों की मानें तो ध्रुव सक्सेना को मनीष गांधी सिम उपलब्ध करवाने का काम करता था। उसने फर्जी आइडी पर 500 के करीब सिम ध्रुव को सिम मुहैया करवाई थी। तीन बार उपयोग के बाद सिम को तोड़ दिया जाता

आईएसआई नेटवर्क से जुड़ने के आरोप में गिरफ्तार सतना का बलराम मददगारों को पैसा पहुंचाने के जनधन खातों का भी इस्तेमाल करता था। एटीएस की पूछताछ में इस काम में उसकी मदद करने वाले उसके दोस्त रज्जन ऊर्फ राजीव तिवारी को एटीएस जल्द हिरासत में लेगी। रज्जन अभी गांजा तस्करी के मामले में मैहर जेल में बंद है। बलराम के साथ काम करने वाला रज्जन पैसे जमा करने के लिए ग्रामीणों के बैंक खाते खुलवाता था। बताया जा रहा है कि जनधन खातों में भी उसने कई ग्रामीणों के खाते खुलवाए और उनकी पासबुक और एटीएम खुद रख लिए। इसके बदले खाताधारकों को कुछ रपए भी देता था। इन खातों में आने वाले पैसों को पाकिस्तानी हैंडलर्स के कहने पर या ऑनलाइन या सीधे संबंधित व्यक्ति तक पहुंचाने की बात सामने आई है।

मुंबई एटीएस ने इंदौर के खजराना इलाके से सिमी आतंकी जादिल परवाज को पकड़ा। जादिल गुजरात सीरियल धमाकों के मुख्य आरोपी आमिल परवाज का भाई है और इंदौर में पिछले तीन महीने से अपनी बहन हिना (खिजराबाद) के घर रह रहा था। जादिल को गिरफ्तार करने से पहले इसकी जानकारी एमपी एटीएस को दी गई व स्थानीय पुलिस की भी मदद मांगी गई। जादिल लीबिया और सीरिया में बैठे आइएस आतंकियों तबरेज व अली के संपर्क में था। उनसे फेसबुक पर बातें किया करता था।

भाजपा पर साधा निशाना

कांग्रेस ने आईएसआई जासूसी मामले में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान पर निशाना साधा है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता केके मिश्रा ने आईएसआई जासूसी में गिरफ्तार 11 लोगों में 10 के कनेक्शन भाजपा से पाए जाने के प्रमाणों के बाद सरकार और भाजपा पर हमला किया है। मिश्रा ने कहा कि निशातपुरा थानांतर्गत त्रिवेणी हाइट्स के पीछे उजागर हुए ”हाई प्रोफाइल अंतरराज्यीय सेक्स रैकेट’ में विक्की ठाकुर आरोपी है जो राज्यमंत्री विश्वास सारंग का नजदीकी है। मिश्रा ने इन सब परिस्थितियों के सामने आने के बाद मुख्यमंत्री और भाजपा प्रदेशाध्यक्ष से पूछा है कि आखिरकार उनकी सरकार व पार्टी में यह क्या हो रहा है।

Courtesy:Outlook 

Categories: India

Related Articles