UP election: तीसरे चरण के मतदान में कई जिलों में पथराव और मारपीट

लखनऊ उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव 2017 के तीसरे चरण के मतदान के दौरान कुछ जगहों पर पोलिंग बूथों में छिटपुट हिंसा देखने को मिली। ऐसे हाताल मैनपुरी, फर्रुखाबाद, औरैया, कानपुर लखनऊ, इटावा और कानपुर देहात में कुछ स्थानों पर पैदा हुए। हालांकि सुरक्षा बलों ने समय रहते सब कुछ नियंत्रण में कर लिया गया। इससे इतर कुछ जिलों में स्थानीय मुद्दों को लेकर मतदान बहिष्कार की सूचना है।

मैनपुरी के गंगा सहाय बूथ पर बाइक पर सवार होकर आए युवकों ने फायरिंग की और भाग गए। यहां सांसद तेजप्रताप यादव के खिलाफ नारेबाजी हुई। लोगों ने विकास कार्य न होने के चलते नारेबाजी की,हालांकि मैनपुरी में कई जगह हिंसा हुई। गड़ेरी गांव में दबंगों ने चहेते प्रत्याशी को वोट न देने पर दलित की झोपड़ी फूंक दी और जमकर मारपीट की। तीन महिलाओं समेत पांच लोग घायल हो गए। भगवंतपुर गांव में मतदान को लेकर हुए विवाद पर ग्रामीणों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया, जिसमें एक पुलिस कर्मी व एक वाहन चालक घायल हो गया। कुछ वाहन क्षतिग्रस्त हो गए। इसके बाद गुस्साई पुलिस ने ग्रामीणों पर लाठियां चलाईं। ग्र्रामीणों ने पुलिस पर कुछ घरों में तोडफ़ोड़ का आरोप भी लगाया है। पुलिस ने एक दर्जन से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है। गांव नगला ताल में दबंग ने रंजिश में दलित युवक की गोली मारकर हत्या कर दी। वह दिल्ली में प्राइवेट नौकरी करता था और वोट डालने के लिए गांव आया था।

मतदाताओं को धमकाया

कानपुर देहात के गजनेर इलाके में बसपा नेता पप्पू सेंगर पर हमवले के विरोध में लोगों के वोट नहीं दिए। बताया गया है कि यहां दबंगों ने गांव वालों को वोट नहीं डालने दिया। इस दौरान कई बार हाथापाई और मारपीट की नौबत आई। इटावा के जसवंतनगर क्षेत्र के कटाइयापुर में मतदान के दौरान दो गुटों में पथराव से कुछ लोग जख्मी हुए हैं। कटियापुरा में गुंडों द्वारा मतदाताओं को धमकाने की बात सामने आई है। लोगों का कहना है कि चोट सपा प्रत्याशी शिवपाल सिंह यादव को भी लगी है। औरैया सदर विधानसभा क्षेत्र के भरतौल गांव में सीओ पर सरकारी रसोइये और रोजगार सेवक को वोट नहीं देने पर नौकरी से निकालने की धमकी देने का आरोप लगाया गया है। फर्रुखाबाद के रामानंद इंटर कालेज बूथ पर मतदाता को धमकाने के आरोप में सपा और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच जबरदस्त नोक झोंक हो गई। सुरक्षा बलों ने समझाबुझाकर मतदान का काम आगे जारी रखा। कायमगंज विधानसभा के चौखड़िया बिरहिमपुर में मतदाताओं ने मतदान का बहिष्कार किया। ग्रामीणों ने बूथ 44 निनौआ पर स्याई की जगह पानी लगाने का आरोप लगाया।

लखनऊ में मतदाताओं में लात-घूसे चले

राजधानी लखनऊ के कैंट विधानसभा क्षेत्र के बूथ नंबर 197 पर लाइन में लगने को लेकर मतदाताओं की आपस में मारपीट में लात-घूसे चले। हालाकि सुरक्षाकर्मियों ने फौरन स्थिति को काबू में कर लिया। हरदोई जिले के ग्राम भिठारी में 205 ग्रामीणों के नाम वोटर लिस्ट से गायब होने से मतदाताओं ने हंगामा किया। यहां बातचीत से मामला सुलझ गया। कानपुर के चुन्नीगंज पथराव होने से एक पत्रकार का सिर फट गया। मतदान के दौरान पत्थरबाजी से हड़कंप मच गया। सुरक्षाकर्मियों ने हालात को काबू में कर उपद्रवियों को दबोचा।

कानपुर के किदवई नगर विधानसभा के कई बूथों पर मारपीट की घटनाएं हुईं। एक मतदान केंद्र पर भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे पर पथराव किया। घटना में छह लोग घायल हुए। यह बवाल करीब डेढ़ घंटे चला। इसमें कांग्रेस प्रत्याशी के अजय कपूर के भाई विजय कपूर समेत 55 के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। आर्यनगर विधानसभा क्षेत्र के क्राइस्ट चर्च डिग्री कालेज स्थित मतदान केंद्र पर मतदाता सूची में नाम न होने को लेकर लोगों ने उप जिला निर्वाचन अधिकारी का घेराव किया। उन्नाव जिले में मतदाता सूची में उपस्थित वोटरों को गुमसुदा दिखाया गया तो मतदान केंद्र पर वोटरों ने हंगामा किया।

Courtesy: Jagran.com

Categories: Politics

Related Articles