अमित शाह बोले- सबको नौकरी देना संभव नहीं, सीताराम येचुरी ने कहा- जुमला साबित हुआ नरेंद्र मोदी का एक और वादा

उत्तर प्रदेश चुनाव के मद्देनजर सभी पार्टियां राज्य की सत्ता तक पहुंचने की कोशिश कर रही हैं। इसी बीच बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने पार्टी की रणनीति और राज्य की राजनीति को लेकर काफी बातें कही हैं। अंग्रेजी टीवी चैनल टाइम्स नाऊ को दिए गए अपने इंटरव्यूह में अमित शाह ने कई मुद्दों पर बातचीत की। अमित शाह से जब नौकरी पैदा करने में असफल होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, कि सवा 100 करोड़ की आबादी वाले देश में सबको नौकरी देना समंभव नहीं। शाह ने आगे कहा, “नौकरी शब्द का प्रयोग हमने नहीं किया था, रोजगार शब्द का प्रयोग किया था और रोजगार के लिए हमने मुद्रा बैंक से लोगों को लोन उपलब्ध कराए। इससे लगभग 4 करोड़ बेरोजगार युवाओं को हमने स्वरोजगार उपलब्ध कराया है और इसका पोजिटिव असर दिखाई देता है।”

वहीं शाह ने नोटबंदी पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा, “नोटबंदी के बाद में हुए चुनाव के नतीजे एक तरह से फैसले को लेकर जनता के रेफरेंडम की ओर इशारा करता है”। वहीं कांग्रेस-सपा के गठबंधन को लेकर भी अमित शाह ने अपनी बात रखी। उन्होंने कहा, “बीते 15 सालों का आकलन करें तो यूपी के विकास की स्थिति बेहद खराब रही है। कानून व्यवस्था का मुद्दा भी बहुत बड़ा है। गठबंधन करके जनता की आंखों में कोई धूल नहीं झौंक सकता। मैं राज्य के कई इलाकों में घूमा हूं और मैंने बीजेपी की लहर देखी है और हम बड़े मार्जिन के साथ जीतकर यूपी में सरकार बनाने जा रहे हैं।”

COurtesy:Jansatta 

Categories: Politics

Related Articles