नए सोलर सिस्टम की खोज: पृथ्वी जैसे 7 प्लैनेट में से 3 में समुद्र; लाइफ की भी उम्मीद

न्यूयॉर्क. नासा के साइंटिस्ट्स ने हमारे ही तरह का एक और सोलर सिस्टम खोज निकाला है। इसमें पृथ्वी के साइज के सात प्लैनेट हैं। ये सभी छोटे स्टार ट्रैपिस्ट-1 का चक्कर लगाते हैं। नासा के मुताबिक, इनमें से तीन प्लैनेट में समुद्र भी है। इससे वहां लाइफ होने यानी एलियन्स की मौजूदगी के पूरे आसार हैं। छह प्लैनेट का टेम्परेचर जीरो से 100 डिग्री सेल्सियस तक….

– सात में से छह प्लैनेट का टेम्परेचर जीरो से 100 डिग्री सेल्सियस तक है।

– ये सोलर सिस्टम पृथ्वी से 39 लाइट ईयर्स (378 लाख करोड़ किमी) की दूरी पर है।
– साइंटिस्ट्स को इन प्लैनेट पर लाइफ का पता लगाने में 10 लग सकते हैं।
– इसे साइंस में इस सेन्चुरी की सबसे बड़ी खोजों में गिना जाएगा।
– साइंटिस्ट्स को सबसे पहले 2010 में ट्रैपिस्ट सूरज के पास प्लैनेट की खोज करते वक्त मिला था। तब से उस पर नजर रखी जा रही थी।

छोटे स्टार ट्रैपिस्ट का लगाते हैं चक्कर, हमारे सूरज से 200 गुना कम रोशनी

– ये सभी छोटे स्टार ट्रैपिस्ट-1 का चक्कर लगाते हैं। ट्रैपिस्ट हमारे ज्यूपिटर ग्रह से थोड़ा ही बड़ा है। इसकी रोशनी सूरज से 200 गुना कम है।
– जब सूरज का ईंधन खत्म हो जाएगा, तब हमारी पृथ्वी भी खत्म हो जाएगी। लेकिन यह ग्रह मौजूद रहेगा। ट्रैपिस्ट में हाइड्रोजन गैस काफी धीमे जल रही है।
– यानी यह ब्रह्मांड की मौजूदा उम्र से 700 गुना ज्यादा चलेगा।

तीन प्लैनेटका साल 4, 6 और 9 दिनों का
– नासा की इस टीम को लीड कर रहे डॉ. क्रिस कोपरवीट ने कहा, “इस खोज ने भविष्य में यूनिवर्स में पृथ्वी के अलावा लाइफ होने की बात को मजबूती मिली है।”
– इन तीन प्लैनेट के साल 4, 6 और 9 दिन के हैं। यानी ये तीनों प्लैनेट अपने सूरज यानी ट्रैपिस्ट-1 का चक्कर 4, 6 और 9 दिन में पूरा करते हैं। ये तीनों प्लैनेट पृथ्वी से हल्के हैं।

Courtesy: Bhaskar.com

Categories: India

Related Articles