ट्रंप ने किन्नर छात्रों के लिए बने ओबामा के नियम को किया रद रद्द

ट्रंप ने किन्नर छात्रों के लिए बने ओबामा के नियम को किया रद रद्द

वाशिंगटन, प्रेट्र/रायटर। अमेरिका में ट्रंप प्रशासन ने पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के बड़े फैसले को पलटते हुए ट्रांसजेंडर (किन्नर) विद्यार्थियों के लिए पसंद वाला बाथरूम और रेस्ट रूम इस्तेमाल करने पर रोक लगा दी है। इस आशय का आदेश न्याय और शिक्षा विभाग ने जारी कर दिया है। विपक्षी डेमोक्रेटिक पार्टी और एलजीबीटी समुदाय ने ट्रंप प्रशासन के इस फैसले पर कड़ा विरोध व्यक्त किया है।

मई 2016 में तत्कालीन राष्ट्रपति ओबामा ने ट्रांसजेंडर वर्ग के छात्रों को स्कूल-कॉलेजों में अपनी पसंद से स्त्री या पुरुषों के बाथरूम और उसी तरह से रेस्ट रूम का इस्तेमाल करने की अनुमति देने वाला नियम बनाया था। इस नियम का पालन न करने पर संस्था को मिलने वाली सरकारी सहायता रोकने का प्रावधान किया था। अमेरिका के एलजीबीटी (लेस्बियन, गे, बाइसेक्सुअल, ट्रांसजेंडर) समुदाय ने इस नियम को अपनी पहचान की जीत के तौर पर लिया था। इसे अधिकार मिलने की शुरुआत बताया था। लेकिन चुनाव के दौर में डोनाल्ड ट्रंप ने इस नियम के खिलाफ टिप्पणी की थी। ट्रंप के राष्ट्रपति बनने के करीब एक महीने बाद इस नियम को खत्म कर दिया गया है। जारी आदेश में कहा गया है कि ओबामा प्रशासन के इस नियम में तमाम खामियां थीं जिसके कारण कई लोग और संस्थाएं अदालत में पहुंच गई थीं। एक फेडरल कोर्ट ने अगस्त में इसे लागू करने पर रोक भी लगा दी थी। ट्रंप प्रशासन ने इस नियम को खत्म करने की सूचना सुप्रीम कोर्ट को भी दी है। शिक्षा और न्याय विभाग ने साफ किया है कि ऐसा करके वह लिंग के आधार पर भेदभाव को खत्म कर रहा है। देश का कानून भी लिंग के आधार पर भेदभाव न करने के लिए कहता है।

Courtesy: Jagran.com

Categories: International