हरियाणा: बीजेपी मंत्री अनिल विज का विवादित बयान, कहा- गुरमेहर के समर्थक पाकिस्तानी, देश से निकाल फेंको

रामजस कॉलेज हुए विवाद के बाद एबीवीपी के खिलाफ सोशल मीडिया पर कैंपेन चलाने वाली कारगिल शहीद की बेटी गुरमेहर सिंह के मामले में बीजेपी के वरिष्ठ नेता और हरियाणा सरकार में मंत्री अनिल विज ने विवादित बयान दिया है। विज ने बुधवार को कहा कि जो लोग भी गुरमेहर कौर का समर्थन कर रहे हैं वह पाकिस्तान के समर्थक है। इसलिए ऐसे लोगों को देश से बाहर फेंक देना चाहिए। रामजस कॉलेज में हुआ विवाद राजनीति के अखाड़े की तरह हो गया है। पिछले दिनों गुरमेहर के समर्थन में कांग्रेस के उपाध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आए थे। गुरमेहर कौर द्वारा कैंपेन चलाए जाने के बाद उन्हें रेप धमकियां मिली थी। जिसके बाद इस मामले में मंगलवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उप राज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात कर सख्त कार्रवाई करने की मांग की।

वहीं, कारगिल शहीद की बेटी मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर ने रेप की धमकियां मिलने के बाद दिल्ली महिला आयोग में शिकायत दर्ज कराई थी। गुरमेहर कौर की तरफ से दिल्ली महिला आयोग में की गई शिकायत के संबंध में बुधवार (1 मार्च) को मामला दर्ज कर लिया गया। दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता और विशेष पुलिस आयुक्त (दक्षिण-पश्चिम) दीपेंद्र पाठक ने कहा कि भारतीय दंड संहिता की धारा 354ए (यौन शोषण और यौन शोषण के लिए दंड), 506 (आपराधिक धमकी के लिए दंड) और आईटी एक्ट की धारा 67 के तहत अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।

गौरतलब है कि रामजस कॉलेज के सेमिनार में जेएनयू के छात्र उमर खालिद को वक्ता के तौर पर बुलाए जाने का एबीवीपी के छात्र विरोध करने पहुंचे थे। जिसके बाद एबीवीपी के कार्यकर्ताओं और कम्यूनिस्ट छात्र संगठनों में झड़प हो गई थी। इस झड़प में कई छात्र घायल हो गए थे। लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा और करगिल शहीद कैप्टन मनदीप सिंह की बेटी गुरमेहर कौर ने रामजस कॉलेज में हुए विवाद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (ABVP) का विरोध किया। उन्होंने विरोध में अपना फेसबुक प्रोफाइल तस्वीर बदल दी थी। इस तस्वीर में लिखा था, “मैं दिल्ली यूनिवर्सिटी की छात्रा हूं, मैं एबीवीपी से नहीं डरी हूं। मैं अकेली नहीं हूं। देश का हर छात्र मेरे साथ है। #StudentsAgainstABVP.” कुछ ही देर में गुरमेहर का पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था।

Courtesy:Jansatta 

Categories: Politics

Related Articles