देश में नफरत मंजूर नहीं: कंसास में भारतीय इंजीनियर के मर्डर पर पहली बार बोले ट्रम्प

देश में नफरत मंजूर नहीं: कंसास में भारतीय इंजीनियर के मर्डर पर पहली बार बोले ट्रम्प

वॉशिंगटन.प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प ने कंसास फायरिंग में भारतीय इंजीनियर के मर्डर की निंदा की है। उन्होंने पार्लियामेंट की पहली स्पीच में कहा- “मैं अपने दिल से बात कर रहा हूं। नफरत के किसी भी रूप की हम निंदा करते हैं। कंसास शूटिंग और यहूदियों के सेंटर्स को निशाना बनाना गलत है।” बता दें कि 22 फरवरी को कंसास के एक बार में अमेरिकी शख्स ने भारतीय लोगों पर फायरिंग की थी। इसमें श्रीनिवास कुचीभोतला (32) की मौत हो गई थी। वहीं, उनके दोस्त आलोक मदसानी जख्मी हो गए थे। व्हाइट हाउस ने बयान भी जारी किया

– स्पीच से ठीक पहले व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में भी कहा गया है कि ट्रम्प प्रवासियों को निशाना बनाकर किए गए इस हमले की निंदा करते हैं।

– बुधवार को अमेरिकी कांग्रेस में कंसास शूटिंग के विक्टिम्स के लिए एक मिनट का मौन भी रखा गया।

– व्हाइट हाउस की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि प्रेसिडेंट की संवेदनाएं उन परिवारों के साथ हैं, जिनके मेंबर्स हमलों के शिकार हुए हैं। जख्मी लोगों के रिकवर होने की कामना करते हैं। जैसे फैक्ट्स सामने आए हैं, उनसे साफ होता है कि ये नफरत फैलाने वाले कदम हैं।

– प्रेसिडेंट इस तरह की सोच की सख्त शब्दों में निंदा करते हैं। हमारे देश में इस तरह की सोच के लिए कोई जगह नहीं है।

यूएस में रह रहे भारतीय अंग्रेजी बोलें

– एसोसिएशन ऑफ तेलंगाना एनआरआई ने यूएस में रह रहे भारतीयों को लेकर एक एडवाइजरी जारी की है। इसमें कहा गया है कि पब्लिक प्लेस पर मदर टंग में बातचीत नहीं करें।

– तेलंगाना अमेरिकन तेलुगु एसोसिएशन के जनरल सेक्रेटरी विक्रम जानगम ने ये एडवाइजरी जारी की है। इसमें कहा गया कि पब्लिक प्लेस पर किसी के साथ बहस न करें। अगर ऐसा होता है तो नजरअंदाज कर वहां से निकल जाएं।

भारत ने कहाविरोध जताने की जरूरत नहीं

– मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, भारत ने कंसास फायरिंग पर अमेरिकी सरकार के सामने विरोध जताने की खबरों से इनकार किया है।

– फॉरेन मिनिस्ट्री ने कहा अमेरिकी सरकार ने श्रीनिवास कुचीभोतला की मौत को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और आगे कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

– बता दें कि इस मामले की जांच एफबीआई को सौंप दी गई है।

क्या हुआ था 22 फरवरी की रात?
– श्रीनिवास और आलोक मदसानी ओलाथे में जीपीएस बनाने वाली कंपनी गार्मिन के एविएशन विंग में काम करते थे।
– 22 फरवरी की रात वे ओलाथे के ऑस्टिन बार एंड ग्रिल बार में थे। तभी यूएस नेवी से रिटायर्ड एडम पुरिन्टन (51) नाम का एक शख्स उनसे उलझ गया।
– एडम रेसिस्ट कमेंट करने लगा। उसने दोनों को आतंकी कहा। बोला कि मेरे देश से निकल जाओ। तुम मेरे देश में क्यों आए हो? तुम हमसे बेहतर कैसे हो?
– बहस के बाद एडम को बार से निकाल दिया गया। थोड़ी ही देर में वह गन लेकर लौटा और दोनों पर गोली चला दी।
– इसके पांच घंटे बाद एडम दूसरी बार में शराब पीने पहुंचा। वहां उसने लोगों को बताया कि वह मिडल-ईस्ट के दो लोगों को मारकर आया है और छुपने की जगह चाहिए। बार टेंडर ने पुलिस बुलाकर उसे गिरफ्तार करवा दिया।
– हमले में श्रीनिवास की मौत हो गई। उसके दोस्त आलोक मदसानी भी जख्मी हुए, फिलहाल वे ठीक हैं।

Courtesy: Bhaskar

Categories: International

Related Articles