राहुल अखिलेश के रोडशो में उमड़ा जनसैलाब

राहुल अखिलेश के रोडशो में उमड़ा जनसैलाब

 

वाराणसी में चार मार्च को रोड शो की राजनीति के तहत पीएम नरेंद्र मोदी के बाद अखिलेश यादव और राहुल गांधी रोड शो कर रहे हैं. इससे पहले आगरा, इलाहाबाद, झांसी जैसे शहरों में दोनों नेता साझा रोड-शो कर चुके हैं. सपा-कांग्रेस गठबंधन के तहत दोनों नेताओं ने सबसे पहले लखनऊ से अपने रोड शो अभियान का आगाज किया था. गौरतलब है कि सबसे पहले 11 फ़रवरी को बनारस में राहुल गांधी और अखिलेश यादव के रोड शो की खबर आई थी. इसके लिये कांग्रेस पार्टी के लोग तैयारी में भी जुटे थे. रूट भी तय कर लिया गया था और एसपीजी के लोगों की भी शहर में आने की खबर स्थानीय अखबार में प्रमुखता से छप रही थी. लेकिन ऐन मौके पर जब इस रोड शो के नहीं होने की खबर आई तो यह बात चर्चा का विषय बन गई. कांग्रेस के लोगों ने बताया कि चूंकि बुद्ध पूर्णिमा के दिन संत रविदास की जयंती होती है और बड़ी संख्या में उनके अनुयायी यहां आते हैं, लिहाजा उस भीड़ को देखते हुए इस रोड शो को कैंसल किया गया था.

इससे पहले वाराणसी में पीएम नरेंद्र मोदी ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (बीएचयू) से रोडशो किया. वहां से उनका काफिला काशी विश्‍वनाथ मंदिर पहुंचा. वहां पर उन्‍होंने पूजा-अर्चना की. रास्‍ते में कई जगहों पर मोदी पर फूलों की बारिश की गई. इस दौरान सड़कों पर पीएम मोदी के समर्थन में अपार जनसमूह उमड़ा दिखा. हालांकि कांग्रेस ने पीएम मोदी के कार्यक्रम की आलोचना करते हुए कहा है कि पीएम मोदी के इस कार्यक्रम की अनुमति नहीं ली गई. कांग्रेस प्रवक्‍ता राजीव शुक्‍ला ने बीजेपी पर यह लगाते हुए कहा कि राज्‍य के मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने गरीबों समेत हर तबके के लिए काम किया है. उधर रोडशो के बाद पीएम नरेंद्र मोदी जौनपुर चले गए. वह वहां चुनावी सभा को संबोधित करने के बाद बनारस लौटेंगे और टाउनहाल में सभा को संबोधित करेंगे.

 

Categories: Politics

Related Articles