लालू यादव ने पीएम मोदी को बताया तथाकथित बेटा, कहा- 3 दिन बनारस में डेरा डालने के बाद भी माई से मिलने नहीं पहुंचा

लालू यादव ने पीएम मोदी को बताया तथाकथित बेटा, कहा- 3 दिन बनारस में डेरा डालने के बाद भी माई से मिलने नहीं पहुंचा

यूपी चुनाव के आखिरी चरण के चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र में तीन दिन जमकर प्रचार और रोड शो किया। पीएम मोदी ने अपने गढ़ में सपा सरकार के साथ बसपा और कांग्रेस पर भी आक्रामक रुख दिखाया। पीएम मोदी की वाराणसी की तीन दिवसीय चुनावी यात्रा पर राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के सुप्रीमो और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव ने निशाना साधा। लालू ने ट्विटर पर मोदी के खिलाफ लिखा- “3 दिन बनारस में डेरा डालने के बाद भी गंगा माी से मिलने नहीं पहुंचा तथाकथित बेटा। इनकी (पीएम मोदी) वादाखिलाफी मापने का कोई पैमाना होता तो वह भी टूट जाता।” लालू यादव ने सोमवार को काशी में एक चुनावी सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि पीएम का वाराणसी में डेरा बीजेपी की हार का संकेत है। यहां सपा-कांग्रेस की जीत पक्की है। मैंने यहां 40 जनसभाएं की है, लोगों से मिला हूं। यहां बीजेपी की हार साफ नजर आ रही है। बता दें कि लालू यादव 2017 के चुनाव में समाजवादी पार्टी के लिए प्रचार करके लोगों से वोट मांग रहे हैं।

पीएम मोदी ने सोमवार को वाराणसी में चुनावी सभा करते हुए विरोधी पार्टियों सपा-कांग्रेस गठबंधन और बसपा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि 2017 का चुनाव सपा, बसपा और कांग्रेस के कुशासन से मुक्त होने का चुनाव है। भाजपा की लड़ाई आने वाली पीढ़ियों की समृद्धि एवं खुशहाली के लिए है। यूपी में शिक्षा, पानी, खनिज, हर प्रकार के माफिया हैं और राज्य सरकार सोई हुई है। लोग पुलिस थाने जाने से डरते हैं, हमें यह स्थिति बदलनी है। पीएम मोदी ने उज्जवला योजना का जिक्र करते हुए कहा कि हमने गरीब परिवारों को गैस कनेक्शन उपलब्ध कराया ताकि गरीब मां को धुएं का जहर न झेलना पड़े और वे स्वस्थ जीवन जी सकें।

8 मार्च को आखिरी चरण का चुनाव, 11 को मतगमना
यूपी में अंतिम चरण का चुनाव 8 मार्च को होना है। अंतिम चरण में वाराणसी की 5 सीटों समेत कुल 40 सीटों पर मतदान होगा। वाराणसी की 5 विधानसभा सीटों में से 3 पर बीजेपी और 2 पर समाजवादी पार्टी का कब्जा है। 11 मार्च को स्थिति साफ हो जाएगी कि यूपी की गद्दी किसके हाथ में होगी। चुनाव जीतने के लिए सपा-कांग्रेस गठबंधन, बसपा और बीजेपी समेत सभी दलों ने पूरी ताकत झोंक दी।

Courtesy:Jansatta 

 

Categories: Politics