देवबंद में भी जीती भाजपा, 21 साल बाद मुस्लिम सीट पर लहराया भगवा

उत्तर प्रदेश के देवबंद में भारतीय जनता पार्टी के उम्मीदवार कुंवर बृजेश सिंह ने जीत दर्ज की है। इस सीट पर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) का जीतना इसलिए खास है क्योंकि वह इलाका मुस्लिम बहुल है। वह शुरुआत से ही आगे चल रहे थे। 2012 से 2015 तक समाजवादी पार्टी के राजेंद्र सिंह राणा वहां के विधायक थे। लेकिन 27 अक्टूबर को उनका निधन हो गया था। उसके बाद मावी अली वहां से विधायक बने। वह कांग्रेस पार्टी के नेता हैं। 1996 में मिली थी आखिरी जीत: इससे पहले भारतीय जनता पार्टी को देवबंद में आखिरी बार जीत 1996 में मिली थी। तब भाजपा के लिए सुखबीर सिंह पुंडीर ने जीत दर्ज की थी।

यह हैं इलाके: देवबंद विधानसभा सीट में देवबंद, भायला, तालेपुरी, देवबंद एनपीपी, देवबंद तहसील इलाके आते हैं। देवबंद का नाम काफी बार चर्चा में रहता है। कुछ दिन पहले बीजेपी नेता सुरेश राणा की वजह से भी चर्चा में आया था। उन्होंने कहा था कि अगर उनकी जीत हुई तो कैराना, मुरादाबाद में कर्फ्यू लग जाएगा।

देवबंद दिल्ली से 150 किलोमीटर की दूरी पर है। वहां पर एक दारुल उलूम देवबंद यूनिवर्सिटी भी है जो कि काफी मशहूर है। वह 30 मई 1866 में बनाई गई थी। देवबंद के आस-पास सहारनपुर, मेरठ, मुजफ्फरनगर. रुड़की, हरिद्वार, शामली जैसे इलाके हैं।

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए चल रही वोटों की गिनती से आए रुझानों के मुताबिक, भाजपा राज्य में एतिहासिक बहुमत की ओर बढ़ती लग रही है। पार्टी की 300 से भी ज्यादा सीटों पर बढ़त बनी हुई है। राज्य में कुल 403 विधानसभा सीटें हैं। 2012 के चुनावों में समाजवादी पार्टी को 224, बसपा को 80, बीजेपी को 47 और कांग्रेस को 28 सीटें हासिल हुई थीं। उत्तर प्रदेश के साथ-साथ पंजाब, गोवा, मणिपुर, उत्तराखंड में हुए विधानसभा चुनाव के नतीजे भी आज (11 मार्च) ही आ रहे हैं।

Courtesy:Jansatta 

Categories: Politics

Related Articles