पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बोले सीएम योगी आदित्‍यनाथ, ‘हमारी सरकार बिना भेदभाव के काम करेगी’

पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में बोले सीएम योगी आदित्‍यनाथ, ‘हमारी सरकार बिना भेदभाव के काम करेगी’

लखनऊ: यूपी के मुख्‍यमंत्री का कार्यभार संभालने के बाद योगी आदित्‍यनाथ पहली बार मीडिया से रूबरू हुए. अपनी पहली प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि यूपी के लिए आज का दिन ऐतिहासिक है और राज्‍य के विकास के लिए हमारी सरकार पूरी तरह कृतसंकल्पित है. उन्‍होंने कहा, ‘हम प्रदेश की जनता को पूरी तरह आश्‍वस्‍त करना चाहते हैं कि राज्‍य सरकार उत्तर प्रदेश को विकास और खुशहाली के रास्‍ते पर तेजी से आगे बढ़ाने के लिए जो भी कदम उठाने की जरूरत होगी उसमें कोई कसर नहीं छोड़ेगी.’ उन्‍होंने कहा कि 15 साल में यूपी विकास की दौड़ में पिछड़ गया है और इसे तेजी से विकास के रास्‍ते पर लाने के लिए जरूरी कदम उठाए जाएंगे. अपने इस लक्ष्‍य को हासिल करने के लिए हमने अपने लोक कल्‍याण संकल्‍प पत्र के माध्‍यम से प्रदेश की जनता से जो वादे किए थे उन्‍हें 100 फीसदी पूरा करेंगे.’

मुख्‍यमंत्री ने कहा, ‘यूपी की व्‍यवस्‍था चाकचौबंद रखने के लिए हम सजग हैं. प्रदेश में शिक्षा का उन्‍नयन, युवाओं के लिए रोजगार के अवसरों में वृद्धि, आम लोगों को परिवहन की अच्‍छी सुविधा प्राप्‍त हो इसके लिए सरकार काम करेगी. युवाओं को कौशल विकास के आधार पर रोजगार के अवसर प्राप्‍त हों इसके लिए भी संवेदनशील तरीके से काम किया जाएगा.’

सरकारी नौकरियों का जिक्र करते हुए योगी ने कहा, ‘सरकारी नौकरियों में नियुक्तियों को भ्रष्‍टाचार मुक्‍त और पारदर्शी बनाया जाएगा.’ उन्‍होंने कहा कि राज्‍य की कानून व्‍यवस्‍था को दुरुस्‍त करने पर भी काम किया जाएगा और महिलाओं की सुरक्षा पर विशेष ध्‍यान दिया जाएगा. खेती के विकास की बात करते हुए उन्‍होंने कहा कि खेती को यूपी के विकास का आधार बनाया जाएगा और यूपी के ग्रामीण इलाकों के उत्‍थान पर विशेष ध्‍यान दिया जाएगा. गरीब, दलित और पिछड़ों के लिए काम करने की बात भी नए मुख्‍यमंत्री ने की. हालांकि छोटे किसानों की कर्जमाफी के मुद्दे पर योगी आदित्‍यनाथ ने कुछ भी नहीं कहा, जबकि चुनाव प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि यूपी में बीजेपी की सरकार बनने पर कैबिनेट की पहली बैठक में ही छोटे किसनों का कर्ज माफ करने संबंधी फैसला ले लिया जाएगा.
Courtesy:NDTV

Categories: Politics