BJP का OBC से धोखेबाजी का इतिहास, आरक्षण लागू होते ही गिराई थी वीपी सिंह की सरकार- मायावती

BJP का OBC से धोखेबाजी का इतिहास, आरक्षण लागू होते ही गिराई थी वीपी सिंह की सरकार- मायावती

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनाए जाने पर सूबे की पूर्व सीएम मायावती ने बीजेपी को आड़े हाथों लिया है। मायावती ने कहा कि बीजेपी 2019 का लोक सभा चुनाव विकास के दम पर नहीं बल्कि वोटरों का ध्रवीकरण करके जीतना चाहती है। बीजेपी यूपी में आरएसएस का एजेंडा लागू करने पर अमादा है।

 

उत्तर प्रदेश की पू्र्व मुख्यमंत्री मायावती ने कहा, “बीजेपी 2019 का लोक सभा चुनाव विकास के मुद्दे पर नहीं लड़ेगी बल्कि वह वोटरों का ध्रुवीकरण करेगी। इसी बात को मद्देनजर रखते हुए बीजेपी ने आरएसएस के आदमी को मुख्यमंत्री बनाया है।” उन्होंने आगे कहा, “बीजेपी ने 2014 में किए चुनावी वादों में से एक भी वादा पूरा नहीं किया है। उसने केवल मतदाताओं का ध्रुवीकरण किया है।”

 

मायावती ने कहा, “पिछड़ी जातियों का वोट लेने के लिए बीजेपी ने केशव प्रसाद मौर्य को आगे कर दिया, पार्टी उन्हें डिप्टी सीएम भी बनाना नहीं चाहती थी जिसके चलते उनको हार्ट अटैक हुआ,  बीजेपी ने उनके साथ साजिश की है।” उन्होंने आगे कहा, “डिप्टी सीएम की कोई भूमिका नहीं होती है, यह अच्छा होता की केशव प्रसाद मौर्य और दिनेश शर्मा को किसी विभाग का कैबिनेट मंत्री बनाया जाता।”

 
बीएसपी प्रमुख मायावती ने कहा, कल्याण सिंह ओबीसी कैटेगरी से हैं वह उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री बने थे, बीजेपी ने उनके साथ भी धोखा किया है उनको लंबे समय तक कोई बड़ी जिम्मेदारी नही दी।” उन्होंने कहा’  भाजपा ओबीसी विरोधी है, उन्होंने कहा कि आरक्षण के मुद्दे पर बीजेपी केंद्र की वीपी सिंह सरकार को गिरा चुकी है। उन्होंने आगे कहा, “यूपी की बीजेपी सरकार ईमानदारी से नहीं बनी है यह ईवीएम में गड़बड़ी करके ओबीसी और ब्राह्मणों के साथ ठगी करके बनी है।”

Courtesy: nationaldastak

 

 

 

Categories: Politics