महाराष्ट्र विधानसभा में हंगामा करने वाले विपक्ष के 19 MLAs 9 महीने के लिए सस्पेंड

मुंबई. महाराष्ट्र में बजट पेश किए जाने के दौरान हंगामा करने वाले कांग्रेस और एनसीपी के 19 विधायकों को 9 महीने के लिए सस्पेंड किया कर दिया गया है। 18 मार्च को ये सभी विधानसभा में हंगामा करते हुए किसानों का कर्ज माफ करने की मांग कर रहे थे। क्या है पूरा मामला….
– विधानसभा अध्यक्ष हरिभाउ बागड ने हंगामा मचाने वाले कांग्रेस एनसीपी के 19 विधायकों को सस्पेंड किया है।
– महाराष्ट्र के वित्तमंत्री सुधीर मुनगंटीवार द्वारा 18 मार्च को राज्य का बजट पेश किया गया था।
– इस दौरान एनसीपी के जितेंद्र आव्हाड, कांग्रेस के अब्दुल सत्तार के साथ मिलकर विधायकों ने हंगामा मचाया।
– किसानों का कर्ज माफ किए जाने की मांग पर उन्होंने नारेबाजी की, विधान भवन में हंगामा मचाया, बजट की कॉपियां भी जलाई थी।
– हंगामा मचाने वाले विधायकों को 31 दिसंबर तक सस्पेंड करने का प्रस्ताव संसदीय कार्यमंत्री गिरीश बापट ने रखा था, उसे मंजूर कर लिया गया है।
काली पट्टी बांधकर विधानसभा अध्यक्ष से मिलने गए नेता
– विधायकों को निलंबित किए जाने के बाद बुधवार सुबह 11 बजे कांग्रेस और एनसीपी के नेता काला फिता लगाकर विधानसभा अध्यक्ष हरिभाउ बागडे से मिलने गए।
– इस मसले पर अपोजिशन के विधायकों ने विधान भवन में बैठक भी रखी है। इसमें कांग्रेस, एनसीपी और समाजवादी पार्टी के नेता शामिल होने वाले हैं।
इन विधायकों को किया सस्पेंड
कांग्रेस के : कुणाल पाटिल, विजय वडेट्टीवार, हर्षवर्धन सकपाल, अब्दुल सत्तार, डी. पी. सावंत, संग्राम थोपटे, अमित झनके, अमर काले और जयकुमार गोरे।
NCP के : भास्कर जाधव, जिंतेंद्र आव्हाड, मधुसुदन केंद्रे, संग्राम जगताप, राहुल जगताप अवधूत तटकरे, दीपक चव्हाण, नरहरी जिरवाल, वैभव पिचड़ और दत्ता भरणे।
Courtesy: Bhaskar
Categories: India

Related Articles