देवबंद मुस्लिमों की पहचान वाला शहर नहीं, नाम बदलकर ‘देववृन्द’ होगा’- BJP विधायक

देवबंद मुस्लिमों की पहचान वाला शहर नहीं, नाम बदलकर ‘देववृन्द’ होगा’- BJP विधायक

देवबंद: मुस्लिम बहुल देवबंद का नाम बदलकर क्या अब बीजेपी देववृन्द करेगी? ये सवाल इसलिए क्योंकि देवबंद में बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जगह-जगह बीजेपी विधायक को बधाई देने वाले होर्डिंग लगाए हैं, जिनपर देवबंद का नाम बदलकर देववृन्द लिखा गया है.

बीजेपी के चुनाव कार्यालय पर एक होर्डिंग लगा है, जिसपर लिखा है देववृन्द. मज़ेदार बात ये है कि इसी चुनाव कार्यालय पर 11 मार्च तक जो होर्डिंग लगा था, उसपर देवबंद लिखा था. लेकिन, अब बीजेपी कार्यकर्ताओं ने अपने दफ्तर पर नाम बदलकर देववृन्द लिख दिया है.

विश्व हिंदू परिषद् के पदाधिकारी विकास त्यागी ने कहा, ‘’हमारी लंबे समय से मांग थी कि देवबंद का नाम बदला जाए. इसको लेकर विधायक ब्रजेश जी ने भरोसा दिया है कि पहले विधानसभा सत्र में ही इसको लेकर प्रस्ताव लाया जाएगा.

बीजेपी विधायक बृजेश सिंह का कहना है, ‘’देवबंद कभी मुस्लिमों की पहचान वाला शहर नहीं रहा. देवबंद को देव भूमि कहा जाता है और महाभारत कालीन इतिहास से देवबंद जुड़ा रहा है. वो देवबंद नहीं देववृन्द है. मुझे जीत मेरे कार्यकर्ताओ के अटूट मेहनत से मिली है. मोदी जी की नीतियों को पूरी यूपी की जनता ने स्पष्ट जनादेश दिया है. मुझे पूरा यकीन है की मुझे मोदी जी की नीतियों के कारण जीत मिली है.’’

बृजेश सिंह ने आगे कहा, ‘’मुस्लिमों का वोट सपा और बसपा में बटा है, ऐसा सिर्फ सपा और बसपा के लोग ही मानते हैं. मेरी पार्टी का उद्देश्य कभी बंटवारें का नहीं रहा है. हम सवा सौ करोड़ की बात करते हैं. तीन तलाक़ के मसले पर मुझे मुस्लिम महिलाओं का वोट मिला है. मेरे पास कई मुस्लिम बहनों का फ़ोन आया, जिन्होंने कहा कि हम तीन तलाक़ के मसले पर आपके साथ है.’’

बता दें कि बीजेपी के नवनिर्वाचित विधायक ब्रजेश सिंह ने कहा था कि इस्लामिक शिक्षा के केन्द्र के रूप में समूचे विश्व में विख्यात देवबंद का नाम उतर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनते ही परिवर्तित किया जायेगा और प्राचीन नाम देववृंद किया जायेगा.

Courtesy: ABPNews

Categories: India

Related Articles