हम कश्मीर पर बातचीत को राजी, लेकिन अमन को खतरे में डाल रहा भारत: PAK

हम कश्मीर पर बातचीत को राजी, लेकिन अमन को खतरे में डाल रहा भारत: PAK

नई दिल्ली/इस्लामाबाद. पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने कहा है, “पाक कश्मीर समेत सभी मुद्दों पर भारत से बातचीत के लिए तैयार है, लेकिन भारत सीजफायर वॉयलेशन कर रीजनल पीस के लिए खतरा पैदा कर रहा है।” ममनून हुसैन ने गुरुवार को इस्लामाबाद में रिपब्लिक डे पर अनुअल मिलिट्री परेड की सलामी ली। इस दौरान उन्होंने अपनी स्पीच में भारत को बातचीत का ऑफर दिया, साथ ही आरोप भी लगाया। चीन की आर्मी ने भी लिया हिस्सा

– न्यूज एजेंसी के मुताबिक पाकिस्तान की रिपब्लिक डे परेड में चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) ने भी हिस्सा लिया। इसके जरिए दोनों देशों ने अपनी मजबूत दोस्ती का प्रदर्शन किया। परेड में सऊदी अरब के ट्रूप्स भी शामिल हुए। तुर्की के मिलिट्री बैंड ने भी परेड में परफॉर्मेंस दी।

– रिपब्लिक डे परेड में पाकिस्तान ने अपने न्यूक्लियर कैपेबल वेपंस, टैंक, जेट और अन्य हथियारों का प्रदर्शन किया।
– राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने इस मौके पर स्टेडियम में मौजूद ऑडियंस के सामने कहा, “चीन की आर्मी ने पहले कभी किसी दूसरे देश के ऐसे किसी इवेंट में हिस्सा नहीं लिया।”

भारत पर सीजफायर वॉयलेशन का आरोप
– राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने इस मौके पर भारत पर सीजफायर वॉयलेशन का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “भारत ने कश्मीर के विवादित हिमालयी क्षेत्र में सीजफायर वॉयलेशन कर शांति को खतरे में डाला जो दोनों देशों के बीच विभाजित है और 2 युद्धों की वजह भी रहा है।”

– शिन्हुआ न्यूज एजेंसी के मुताबिक ममनून हुसैन ने कहा, “भारत की गैरजिम्मेदाराना हरकत और सीजफायर वॉयलेशन पाकिस्तान की सुरक्षा के लिए खतरा है।”

– हालांकि हुसैन ने यह भी कहा, ” पाकिस्तान कश्मीर विवाद को हल करने के लिए भारत के साथ यूएन रिजोल्यूशंस के तहत बातचीत को तैयार है।”

जम्मूकश्मीर के लोगों का सपोर्ट करता रहेगा पाक
– ममनून हुसैन ने कहा, “पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर के लोगों के आत्मनिर्णय के अधिकार के लिए उन्हें मॉरल, पॉलिटिकल और डिप्लोमैटिक सपोर्ट देता रहेगा।” हुसैन ने कश्मीर विवाद के पीसफुली सॉल्युशन के लिए इंटरनेशनल कम्युनिटी से अहम रोल अदा करने की भी अपील की।
– उन्होंने कहा, “पाकिस्तान ने किसी देश के खिलाफ कोई आक्रामक रुख नहीं अपनाया है, लेकिन रीजनल पीस और स्टेबिलिटी के लिए कुछ कदम जरूर उठाए हैं।”

Courtesy: Bhaskar

Categories: India

Related Articles