पीएम मोदी और अमित शाह की आलोचना करने पर इतिहासकार को मिले धमकी भरे मेल

पीएम मोदी और अमित शाह की आलोचना करने पर इतिहासकार को मिले धमकी भरे मेल

नई दिल्ली। सरकार की आलोचना पर भी लोग धमकियां देने लगे हैं। इसका खुलासा इतिहासकार रामचंद्रगुहा ने खुद को मिली धमकी के बाद किया है। उन्होंने मंगलवार को दावा किया कि उन्हें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और भाजपा की आलोचना करने पर एक समान कई धमकी भरे ई-मेल प्राप्त हुए हैं।

 

अंग्रेजी समाचार पत्र ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ से फोन पर हुई बातचीत में उन्होने बताया कि पिछले तीन चार दिनों में उन्हें दर्जन भर मेल प्राप्त हुए हैं। सभी ई-मेल में एक जैसे शब्द इस्तेमाल किए गए हैं और राजनेताओं व पत्रकारों के नामों का संबोधन किया गया है। उन्होने कहा, ‘इस तरह के मेल मुझे नियमित रुप से आते हैं, इसमें कोई नई बात नहीं हैं।’

 

 

गुहा ने उनमें से एक ई-मेल को ‘टाइम्स ऑफ इंडिया’ के साथ भी साझा किया। जिनमें लिखा कि भाजपा के आलोचन होने के लिए दिव्य महाकाल की सजा के लिए तैयार हो जाओ। गुहा ने बताया मेल में कहा गया, ‘मुझे भी चेतावनी दी गई है कि नरेंद्र मोदी और अमित शाह की आलोचना न करें। वह धन्य और दिव्य हैं और दुनिया को बदलने के लिए दिव्य महाकाल को चुना गया है।’

 

 

उन्होंने कहा कि इन मेल को प्राप्त करने के बाद मैंने सोचा कि आंशिक रुप से दूसरों को बताने के लिए ट्विटर पर डाल दूं। रामचंद्र गुहा एक मशहूर इतिहासकार हैं। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने बीसीसीआई को चलाने वाली क्रिकेट प्रशासकों को कमेटी में उन्हें भी शामिल किया था। वह एक बेहतरीन क्रिकेट इतिहासकार भी हैं। प्रथम श्रेणी क्रिकेट के बारे में उनकी जबर्दस्‍त जानकारी है। वह इस संबंध में देश-दुनिया के महत्‍वपूर्ण अखबारों में कॉलम भी लिखते रहे हैं। रामचंद्र गुहा सामाजिक और राजनीतिक इतिहास पर लेखन के लिए जाने ही जाते हैं। ‘गांधी बिफोर इंडिया’ और ‘इंडिया आफ्टर गांधी’ उनकी चर्चित पुस्तकें हैं।

Courtesy: nationaldastak

Categories: India

Related Articles